महिला फुल वॉल्यूम 360° विदेश

Justice Ayesha Malik : ये होंगी पाकिस्तान की पहली महिला चीफ जस्टिस

justice-ayesha-malik
Spread It

पााकिस्तान के इतिहास में ऐसा पहली बार होने जा रहा है, जब कोई महिला चीफ जस्टिस बनेगी। जस्टिस आयशा मलिक (Ayesha Malik) पाकिस्तान की पहली महिला मुख्य न्यायाधीश बनने के लिए तैयार हैं, जब आउटगोइंग सीजेपी मुशीर आलम (CJP Mushir Alam) ने उन्हें सुप्रीम कोर्ट में पदोन्नति के लिए सिफारिश की थी। वह वर्तमान में Lahore High Court में हैं और सीनियोरिटी लिस्ट में चौथे स्थान पर हैं।

मलिक ने 1997 से 2001 तक कराची में अपनी कानूनी फर्म में Fakhurddin G Ebrahim की सहायता करके अपना कानूनी करियर शुरू किया। मलिक ने लाहौर में Pakistan College of Law में कानून का अध्ययन किया। इसके बाद उन्होंने लंदन के प्रतिष्ठित Harvard Law School से मास्टर डिग्री हासिल की। मार्च 2012 में मलिक Lahore High Court में न्यायधीश बनीं।

2019 में, मलिक लाहौर में महिला न्यायाधीशों की सुरक्षा के लिए समिति के अध्यक्ष बनीं। उन्होंने अपनी बेसिक शिक्षा पेरिस और न्यूयॉर्क के स्कूलों से पूरी की और लंदन के Francis Holland School for Girls से ए-लेवल किया। वह महिलाओं के लिए समानता और न्याय के माध्यम से महिला सशक्तिकरण की पहल, The International Association of Women Judges (IAWJ) का भी हिस्सा हैं।

जस्टिस आलम 17 अगस्त को रिटायर होने वाले हैं और पाकिस्तान की एक न्यायिक समिति आयशा मलिक को सुप्रीम कोर्ट का चीफ जस्टिस बनाने पर विचार कर रही है।