Uncategorized

CUCET: सेंट्रल यूनिवर्सिटी में अब ऐसे होगा एडमिशन, केंद्र सरकार ने उठाया बड़ा कदम

University
Share Post

DESK : भारत के केंद्रीय विश्वविद्यालयों में एडमिशन लेने के लिए अब नियम अगले सत्र से बदलने जा रहा है. दरअसल सरकार सभी विश्वविद्यालय से संयुक्त प्रवेश परीक्षा (CUCET) कराने के संबंध में सहमति पत्र ले रही है. चर्चा है कि सेंट्रल यूनिवर्सिटी में दाखिले के लिए सभी विद्यार्थियों को एक ही पेपर देना होगा. अब एडमिशन के लिए यूनिवर्सिटी में अलग से परीक्षा लेने की जरूरत नहीं होगी.

देश के किसी भी विश्वविद्यालय में एडमिशन के लिए अब विद्यार्थियों को संयुक्त प्रवेश परीक्षा देना होगा. संयुक्त प्रवेश परीक्षा नए शैक्षणिक सत्र में लागू होगी.जानकारी के अनुसार इसकी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. इसके अलावा प्रश्न पत्र के प्रारूप को ध्यान में रखते हुए सरकार ने सभी पाठ्यक्रमों का ब्यौरा जुटाना शुरू कर दिया हैं. पहले जैसे मेडिकल कॉलेज में दाखिले के लिए परीक्षाएं अलग अलग होती थी. लेकिन बाद में सभी को एक साथ सम्मिलित कर लिया गया.

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) के द्वारा आयोजित NEET की परीक्षा के बाद ही स्टूडेंट्स को मेडिकल कॉलेज में दाखिला मिलता है. छात्रों के हित में इस कदम को सार्थक बताया गया हैं. क्योंकि स्टूडेंट्स को कॉलेज में एडमिशन के लिए कई जगह भटकना नहीं पड़ेगा. आपको बता दें पेपर देने के लिए विभिन्न जगहों पर आने जाने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. कई बार परीक्षा की तारीखें एक साथ दो यूनिवर्सिटी की पड़ जाती हैं, जिसकी वजह से पेपर छूटने की भी स्थिति उत्पन्न हो जाती है. साथ ही सभी जगह शामिल भी होना अनिवार्य होता हैं.

ये भी देखा गया है कि जिस विश्वविद्यालय की काउंसलिंग पहले शुरू होती हैं, उसमें विद्यार्थी अपने सुविधानुसार पहले एडमिशन ले लेता हैं और कई बार ऐसा भी होता है कि परिणाम आने के बाद मनचाहा कोर्स और कॉलेज मिलने के बाद दूसरे कैंपस में एडमिशन लेता हैं. ऐसे में छात्रों को काफी मानसिक तनाव और आर्थिक परेशानियों से गुज़रना पड़ता है.

दूसरी ये सबसे बड़ी समस्या है कि एक ही विद्यार्थी विभिन्न जगहों पर एक साथ एडमिशन ले लेता है, जिससे अन्य परीक्षार्थियों को सीटे नहीं मिल पाती है..इसके कारण यूनिवर्सिटी और छात्र दोनों के लिए असहज की स्थिति होती है. आपको बता दें कि ये प्रस्ताव अभी सिर्फ केंद्रीय विश्वविद्यालय को मद्देनज़र रखते हुए लाया गया है. आने वाले समय में कॉलेज और राज्य स्तर की यूनिवर्सिटी भी इस संयुक्त परीक्षा में शामिल होगी.

नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति ज़ल्द ही लागू होने की संभावना हैं जिसमे जेई मेंस (इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा) और मेडिकल एंट्रेंस एग्जाम (NEET) की तरह अब पूरे देश में एक ही प्रवेश परीक्षा होगी. यूजीसी ने दिसंबर तक इसको पूरा करने का निर्णय लिया है. सूत्रों के हवाले से मिली जानकारी के अनुसार( एनटीए) को परीक्षा की जिम्मेवारी सौपी गई है.

Latest News

To Top