राज्य

Bihar के मजदूरों के लिए डेडलाइन, फरवरी तक करवा लें रजिस्ट्रेशन, वरना नहीं मिलेगा सरकारी लाभ

labour
Share Post

DESK : बिहार (Bihar) में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों का फरवरी के अंत तक होगा निबंधन। अभी तक 2 करोड़ 17 लाख से ज्यादा मजदूरों का निबंधन हो चुका है। राज्य में तीन करोड़ 49 लाख मजदूरों का निबंधन लक्ष्य अगले माह तक मिलेगा। इसके लिए सभी जिलों के पदाधिकारियों को निबंधन में रफ़्तार लाने और सामान्य सर्विस सेंटर पर जाकर निबंधन प्रक्रिया को मानीटर करने को कहा गया है। निबंधित मजदूर का राज्य स्तर पर जिलावार डाटा का मूल्यांकन और अनुश्रवण किया जा रहा है। श्रम संसाधन मंत्री जिवेश कुमार ने बुधवार को यह जानकारी दी।

मंत्री जिवेश कुमार ने बताया कि मजदूरों के निबंधन के मामले में देश भर में बिहार तीसरे स्थान पर है। निबंधित श्रमिकों का डाटाबेस भी बनाया जा रहा है। निबंधित मजदूरों को कार्ड यानी परिचय उपलब्ध होने से उन्हें देश में कहीं भी सरकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।

उन्होंने बताया कि जीविका समूह से जुड़ीं लाख दीदियों और मनरेगा मजदूरों का निबंधन कराया जा रहा है। प्रत्येक निबंधित असंगठित मजदूर के दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा भी हो रहा है। मृत्यु या स्थायी रूप से शारीरिक दिव्यांगता की स्थिति में दो लाख रुपये और आंशिक रूप से शारीरिक दिव्यांगता का शिकार होने पर एक लाख रुपये दिए जायेंगे।

पूरे बिहार में असंगठित क्षेत्रों के श्रमिकों एवं मजदूरों का ई-श्रम पोर्टल के ज़रिये से निबंधन किया जा रहा है। ताकि उन्हें सरकार की अलग-अलग योजनाओं का लाभ मिल सके। लेकिन अब तक बड़ी अंक में मजदूर जानकारी के अभाव में सरकार के इस लाभ योजना से वंचित हैं। जिला में ई-श्रम पोर्टल पर असंगठित श्रमिको के निबंधन का कुल लक्ष्य 9 लाख 65 हजार 740 है। लेकिन अब तक 4 लाख 91 हजार 678 का ही निबंधन हो पाया है।

इस योजना के तहत 18 से 59 वर्ष तक के मजदूर तथा कामगारों का निबंधन किया जाता है।इन मजदूरों को निबंधन के लिए केवल आधार कार्ड तथा बैंक पासबुक लेकर आना होगा। इस योजना का लाभ आयकर दाता, पीएफ, ईपीएफ के लाभुक को नहीं मिल पाएगा। इस योजना के अंतर्गत मजदूरों को जहां मनरेगा के तहत कार्य मिल सकेगा। वहीं किसी प्रकार का हादसा होने पर प्रधानमंत्री दुर्घटना बीमा योजना के अन्तर्गत दो लाख की राशि भी दी जाती है। इस आशय की जानकारी श्रम अधीक्षक सुबोध कुमार ने दी।

Latest News

To Top