फुल वॉल्यूम 360°

Patna में प्रकाश पर्व को लेकर सख्त गाइडलाइन्स जारी, RT-PCR निगेटिव रिपोर्ट जरुरी

PRAKASH-PRAV-1
Share Post

PATNA : पटना (Patna) में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर गुरु गोविंद सिंह जी महाराज के 355वें प्रकाशपर्व पर आयोजित कार्यक्रम में कई प्रकार के बदलाव किए गए है. इसमें प्रकाशपर्व पर बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर (RT-PCR) निगेटिव रिपोर्ट को अनिवार्य कर दिया गया है. वहीं सात घंटे का नगर कीर्तन कार्यक्रम का समय घटाकर मात्र तीन घंटे रखा जायेगा.

नए बदलाव की वजह से इस मौके पर बच्चों को शामिल नहीं किया जायेगा. आपको बता दें कि सोमवार को 60 संगतों की जांच में 10 कोरोना संक्रमित पाए गए थे. ये संगत अलग-अलग स्‍थानों से आए थे और इसके बाद प्रशासन एक्टिव हो गई है. इधर हालात को देखते हुए सोमवार को तख्त श्रीहरिमंदिर साहिब प्रबंधन कमेटी की बैठक आयोजित की गई थी.

इसको लेकर जिलाधिकारी डॉ. चंद्रशेखर सिंह और एसएसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो ने गुरुद्वारा प्रबंधन कमेटी एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक किये. बैठक में कमेटी द्वारा यह निर्णय लिया गया कि बाहर से आने वाले लोगों का 72 घंटे के भीतर की आरटीपीसीआर निगेटिव रिपोर्ट जरूरी है. जिनके पास ये रिपोर्ट नहीं होगी, उनका अनिवार्य रूप से एंटीजन टेस्ट किया जायेगा. उसके बाद पाजिटिव रिपोर्ट आने पर उन्हें आइसोलेट कर आरटीपीसीआर टेस्ट कराई जाएगी.

जिलाधिकारी ने बताया कि प्रशासन की ओर से भीड़ प्रबंधन, सुगम यातायात, पेयजल, शौचालय, सफाई और सैनिटाइज करने की व्यवस्था की जाएगी. गुरुद्वारा एवं उसके आसपास प्रतिदिन साफ-सफाई एवं सैनिटाइज कराया जा रहा है. भीड़ प्रबंधन के लिए ड्राप गेट, बैरिकेडिंग तथा नियंत्रण कक्ष की समुचित व्यवस्था करने का निर्देश दिया गया है.

वहीं श्री गुरु गोविंद सिंह सदर अस्पताल द्वारा सोमवार को 502 लोगों की एंटीजन किट से कोरोना की जांच की गयी थी. इनमें 60 विभिन्न जगहों से आए सिख संगत भी थे. अनुमंडलाधिकारी मुकेश रंजन ने बताया कि जांच रिपोर्ट में कुल 23 लोग पाजिटिव पाए गए है. इनमें 10 सिख संगत है.

तख्त श्री हरिमंदिर जी पटना साहिब में जांच शिविर में हुई 42 संगतों की जांच में छह, बाल लीला में 14 की हुई जांच में दो और कंगन घाट स्थित शिविर में 13 की हुई जांच में दो संगत की रिपोर्ट पाजिटिव आई है. इन सभी को गुरु का बाग स्थित आइसोलेशन सेंटर में रखा जा रहा है.

वहीं कोरोना के बढ़ते संक्रमण की वजह से संगत की संख्या भी घटती जा रही है. पहले 12500 संगत द्वारा प्रकाश पर्व में शामिल होने के लिए निबंधन कराया गया था, जिसकी संख्या अब घटकर 5000 हो गई है. कोरोना संक्रमण के बीच प्रकाशपर्व पर पटना साहिब आने वाले सिख संगतों को लेकर प्रशासन सतर्क है.

Latest News

To Top