फुल वॉल्यूम 360°

माइक्रोसॉफ्ट CEO सत्य नडेला के बेटे Zain का 26 साल की उम्र में निधन, इस बीमारी से थे पीड़ित

Satya-Nadela
Share Post

DESK : माइक्रोसॉफ्ट कारपोरेशन के सीईओ (CEO) सत्य नडेला और उनकी पत्नी अनु के बेटे जैन नडेला (Zain Nadella) का निधन सोमवार को महज 26 साल की उम्र में हो गया. जैन मस्तिष्क पक्षाघात (cerebral palsy) मान की बीमारी से पीड़ित थे. ये बीमारी उन्हें जन्म से ही थी. माइक्रोसॉफ्ट ने अपने एक्सीक्यूटिव स्टाफ को एक ईमेल में इसकी जानकारी दी. साथ ही कंपनी ने स्टाफ को भेजे ईमेल में कहा कि सभी शोक संतप्त परिजनों के लिए प्रार्थना करें और उन्हें इससे बाहर आने की प्राइवेसी व स्पेस दें.

जेन का अधिकांश वक्त अमेरिका के सिएटल स्थित चिल्ड्रंस हॉस्पिटल में बीता था. यहां पिछले साल सत्या नडेला ने जेन नडेला न्यूरो साइंसेस सेंटर की स्थापना की, ताकि मस्तिष्क रोगों को लेकर एकीकृत शोध किया जा सके. इस अस्पताल के सीईओ जेफ स्परिंग ने अपने संदेश में लिखा कि जेन को संगीत की अच्छी पकड़ थी. उनकी मुस्कान और अपने परिवार और अपने प्रियजनों को उनके द्वारा दी गई खुशी के लिए याद रखा जाएगा.

सत्य नडेला ने 2017 में प्रकाशित हुई अपनी किताब Hit Refresh में अपने बेटे के संघर्षों के बारे में कई बातें लिखी थीं. अपनी किताब में उन्होंने बताया था कि उनके बेटे का जन्म तब हुआ था, जब वो 27 साल के थे और चूंकि उनका बेटा गंभीर सेरेब्रल पाल्सी के साथ पैदा हुआ था, ऐसे में उनके जीवन का यह बड़ा मोड़ साबित हुआ. इसने उनपर बड़ा असर डाला और उनके बेटे ने उनमें कई पर्सनल और प्रोफेशनल बदलाव लाने में मदद की.

सेरिब्रल पॉल्सी (CP) पीड़ित व्यक्ति के मस्तिष्क के असामान्य विकास या उन हिस्सों को नुकसान पहुंचने के कारण होती है, जिनसे शरीर का संचालन व संतुलन रहता है. इस कारण पीड़ित व्यक्ति मांसपेशियों का सामान्य ढंग से संचालन नहीं कर पाता है. सेरिब्रल पॉल्सी से ग्रस्त बच्चों में मानसिक रोग, सीखने में अक्षमता, देखने, सुनने व बोलने में समस्याएं आती हैं.

सत्य नडेला की पत्नी अनु ने एक बार कहा था कि उनके बेटे जैन को बचाने में टेक्नोलॉजी का अहम योगदान रहा. इस कारण उनके परिवार में टेक्नोलॉजी को काफी वैल्यू दी जाती है. उन्होंने कहा था कि उनके घर में बेटे जैन, दोनों बेटियों और सत्या नडेला हमेशा ही आपस में टेक्नोलॉजी पर बातचीत किया करते थे.

Latest News

To Top