फुल वॉल्यूम 360°

ग्रुप कैप्टन अभिनंदन ‘वीर चक्र’ से सम्मानित, इस योद्दा ने ‘पुराने’ मिग-21 से पाकिस्तान के हाईटेक F-16 को मार गिराया था

Abhinandan Varthaman
Share Post

DESK : भारतीय वायु सेना के ग्रुप कैप्टन अभिनंदन वर्धमान (Abhinandan Varthaman) को उनके अदम्य शौर्य और साहस के लिए वीर चक्र प्रदान किया गया। अभिनंदन ने 2019 में पाकिस्तान के साथ हवाई संघर्ष के दौरान दुश्मन के F-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था। इस दौरान उनके मिग-21 बाइसन को एक मिसाइल लग गई, जिससे उन्हें पाकिस्तान में तीन दिन तक बंधक बनकर रहना पड़ा था।

अभिनंदन को फरवरी 2019 में एक पाकिस्तानी F-16 विमान को मार गिराने के दौरान विशिष्ट साहस दिखाने के लिए सम्मान दिया गया है। हालांकि, भारत के इस दावे को पाकिस्तान ने खारिज कर दिया था। इतना ही नहीं, सैन्य, स्वतंत्र पर्यवेक्षकों के साथ-साथ अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने भी इसे खारिज किया था। गौरतलब है कि तत्कालीन विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने 2019 के पुलवामा हमले (2019 Pulwama attack) की जवाबी कार्रवाई में भारतीय और पाकिस्तानी वायु सेना के बीच हुई हवाई लड़ाई में एक पाकिस्तानी लड़ाकू जेट को मार गिराया था।

भारतीय विंग कमांडर अभिनंदन ने पाकिस्तान के F-16 विमान को गिरा दिया था। लेकिन उनका विमान भी क्षतिग्रस्त हो गया था और इजेक्ट करने के बाद वह पीओके में पहुंच गए थे। जिसके बाद पाकिस्तानी सैनिकों ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया था। बाद में भारत के दबाव में आकर पाकिस्तान ने उन्हें सकुशल भारत को वापस सौंप दिया था। इस हमले में धरती पर गिरने के बाद विंग कमांडर को पता नहीं चला कि वे कहां हैं। लेकिन जैसे ही उन्हें ये आभास हुआ कि वे पाकिस्तान में हैं तो उन्होंने अपने पास मौजूद दस्तावेज तालाब में फेंक दिए थे। बाकी बचे दस्तावेजों को चबाकर निगल गए थे।

अब ग्रुप कैप्टन हैं अभिनंदन
विंग कमांडर अभिनंदन कुमार अब ग्रुप कैप्टन हो चुके हैं। भारतीय सेना में ग्रुप कैप्टन की रैंक कर्नल के बराबर है। जब अभिनंदन ने पाकिस्तानी फाइटर प्लेन को मार गिराया था, उस समय वह 51 स्क्वाड्रन का हिस्सा थे। वह श्रीनगर के करीब अविंतापुरा एयर बेस पर तैनात थे। ग्रुप कैप्टन अभिनंदन के पिता पिता भी वायुसेना में ऑफिसर थे और अब रिटायर हो चुके हैं।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Latest News

To Top