फुल वॉल्यूम 360°

तीसरी लहर से निपटने को तैयार है बिहार, CM नीतीश बोले.. Alert रहना जरुरी

corona-1
Share Post

PATNA : देश में कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन से बने हालात काफी चिंताजनक होने लगे हैं. ओमीक्रोन के बढ़ते मरीजों की संख्या को देखते हुए वैज्ञानिकों ने तीसरी लहर आने की आशंका जता दी है. आंकड़ों की बात की जाए तो देश में अब तक ओमिक्रॉन के 202 मामलों की पुष्टि हुई है. सबसे ज्यादा प्रभावित राज्यों में दिल्ली और महाराष्ट्र शामिल हैं. दोनों राज्यों में ओमिक्रॉन के 54-54 मामले मिले हैं. ओडिशा में आज 2 नए संक्रमित मिले हैं. अबतक ओमिक्रॉन के 77 पेशेंट्स ठीक हो चुके हैं. वहीं, बिहार में सरकार ओमिक्रोन से निपटने के लिए खुद को पूरी तरह से तैयार बता रही है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि कोरोना की तीसरी लहर से लड़ने की राज्य में पूरी तैयारी है. कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के रूप में देश में तीसरी लहर की दस्तक है. दूसरे देशों में कहीं चौथा तो कहीं पांचवां फेज आ गया है. इस स्थिति में सभी को अलर्ट (Alert) रहना है. हमलोगों के यहां पूरी सजगता है, हर प्रकार से तैयारी है.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सबसे ज्यादा कोरोना की जांच बिहार में हो रही है. प्रति दस लाख की आबादी पर देश की जितनी औसत जांच है, उससे ज्यादा हमलोगों के यहां हो रही है. हमलोग जांच अधिक करवा रहे हैं, ताकि नई तरह की कोई चीज आये तो उसका तुरंत पता चले. मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में ओमीक्रोन के मामले अभी तक नहीं हैं, वो अलग बात है. लेकिन देश के अन्य जगहों में कुछ न कुछ केस मिल रहे हैं. हमलोगों को इसके लिये अलर्ट रहना चाहिये.

इधर बिहार स्वास्थ्य विभाग ने 24 घंटे में 10 लाख 5 हजार 914 लोगों की कोरोना जांच कराई है. जांच में लगभग 70 हजार की कमी 24 घंटे में आई है. इस दौरान 5 नए मामले आए हैं. बिहार में अब तक कुल संक्रमितों की संख्या इस 5 नए मामलों के साथ 726376 हो गई है जिसमें 714198 संक्रमितों ने कोरोना को मात दी है लेकिन 12093 लोगों की मौत हो चुकी है.

अब राज्य में कुल एक्टिव मामलों की संख्या 84 हो गई है और रिकवरी रेट भी 98.32 पर स्थिर है. स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि 24 घंटे में 6 मरीज स्वस्थ्य हुए हैं लेकिन 5 नए मामले आने से एक्टिव मामलों की संख्या में मात्र एक मरीज की कमी हुई है.

Latest News

To Top