फुल वॉल्यूम 360°

बिहार : अब घर बैठे मिलेगा चरित्र प्रमाण-पत्र, थाने में केस दर्ज होने के बाद भी बनेगा Character Certificate

Character-Certificate
Share Post

PATNA : चरित्र प्रमाण पत्र यानी कैरेक्टर सर्टिफिकेट (Character Certificate) बनाने के लिए अब तक लोगों को एसपी ऑफिस का चक्कर लगाना होता था लेकिन अब घर बैठे ही आपको चरित्र प्रमाण पत्र मिल सकता है। जी हां, अब चरित्र प्रमाण पत्र लेने की सारी प्रक्रिया ऑनलाइन होने जा रही है. बिहार में अब पुलिस विभाग से चरित्र प्रमाण पत्र बनवाने की प्रक्रिया ऑनलाइन होगी. सूबे के सुदूर ग्रामीण इलाके के लोग भी अपना चरित्र प्रमाण पत्र ऑनलाइन बनवा सकेंगे. गृह विभाग ने इस व्यवस्था को तुरंत प्रभाव में लाने की कवायद शुरू कर दी है. गृह विभाग की ओर से बेल्ट्रान के प्रबंधन निदेशक को पत्र लिखा गया है.

गृह विभाग के अनुसार, अब सुदूर ग्रामीण इलाकों के थानों को भी इंटरनेट कनेक्शन से जोड़ा जाएगा. जहां कनेक्शन है और नेटवर्क की समस्या के कारण काम नहीं हो पा रहा है, वहां व्यवस्था दुरुस्त की जाएगी. इसमें भी खास बात यह है कि ऑनलाइन आवेदन के जरिए वैसे लोगों को भी चरित्र प्रमाणपत्र मिल जाएगा, जिनके खिलाफ थाने में कोई मामला दर्ज है.

आपको बता दें कि बिहार में सर्विस प्लस पोर्टल के माध्यम से हाल ही में ऑनलाइन चरित्र प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने की सेवा शुरू की गई है. गृह विभाग की समीक्षा के दौरान पाया गया कि इसमें कई जगह तकनीकी परेशानी भी आ रही है.

वैसे आवेदक जिनके खिलाफ थानों में प्राथमिकी दर्ज है उनका आवेदन सर्विस प्लस पोर्टल पर अस्वीकृत कर दिया जा रहा है, जबकि ऑफलाइन व्यवस्था में ऐसे आवेदकों को थाने में उनके खिलाफ दर्ज धाराओं को अंकित करते हुए प्रमाण-पत्र उपलब्ध कराया जाता था. इस बिंदु पर डीजीपी के स्तर से निर्णय लिया जाना है.

वहीं अब ऑनलाइन व्यवस्था में जिलों के ऐसे सर्कल थानों को भी पोर्टल पर अंकित कर दिया गया है, जहां चरित्र सत्यापन का काम नहीं किया जा रहा. ऐसे में उन आवेदनों को सर्कल थानों से हटाने का निर्देश दिया गया है. इसके साथ ही पोर्टल पर अंकित थानों और ओपी की सूची का मिलान कर रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया गया है.

Latest News

To Top