फुल वॉल्यूम 360°

20 साल की मालविका से हारीं Saina Nehwal, मात्र 34 मिनट में टेके घुटने

SAINA-NEHWAL
Share Post

DESK : इंडियन ओपन बैडमिंटन टूर्नामेंट में बड़ा उलटफेर हुआ. नागपुर की रहने वाली 20 साल की मालविका बनसोड़ ने दिग्गज खिलाड़ी और लंदन ओलिंपिक की ब्रॉन्ज मेडलिस्ट साइना नेहवाल को हरा दिया. पूर्व चैंपियन और 2012 ओलंपिक ब्रॉन्‍ज मेडलिस्‍ट साइना नेहवाल (Saina Nehwal) का इंडिया ओपन में सफर खत्‍म हो गया. उनका सफर 34 मिनट में दुनिया की 111वें रैंकिंग की खिलाड़ी मालविका बनसोड़ (Malvika Bansod) ने 21-17, 21-9 से हराकर खत्‍म किया. वहीं वर्ल्ड रैंकिंग में साइना इस समय 25वें नंबर पर हैं.

मालविका 10 साल में साइना को हराने वाली दूसरी भारतीय खिलाड़ी हैं. इससे पहले पीवी सिंधु ने ऐसा कमाल किया था. मालविका ने इस जीत को अपने करियर की सबसे बड़ी जीत करार दिया है. उन की इस जीत में उनकी मां का भी बड़ा योगदान रहा है. मालविका को यहां तक पहुंचाने के लिए उनकी डॉक्‍टर मां डॉ. तृप्ति ने अपने घर को छोड़ा, फिर अपने करियर को दांव पर लगाया. यही नहीं उन्‍होंने अपनी बेटी के लिए स्‍पोर्ट्स साइंस में मास्‍टर्स की डिग्री भी हासिल की.

मालविका रायपुर में ट्रेनिंग करती है. 2011 से बैडमिंटन खेलने वाली युवा खिलाड़ी की ट्रेनिंग के लिए उनकी मां उनके साथ 2016 में नागपुर से रायपुर शिफ्ट हो गई थी. जिससे उनकी प्रैक्टिस भी सीमित हो गई. यहीं नहीं डॉ. तृप्ति ने बेटी की खेल में मदद करने के लिए डेंटिस्‍ट की पढ़ाई करने के बाद स्‍पोर्ट्स साइंस में मास्‍टर्स की डिग्री ली.

मालविका ने बैडमिंटन के कोर्ट पर पहली बार कदम रखने के साथ ही तय लिया था कि वो अपनी पढ़ाई को प्रभावित नहीं होने देगी. उन्‍होंने मेहनत भी काफी की और जिसका नतीजा 10वीं और 12वीं में दिखा. उन्‍होंने दोनों में 90 फीसदी से अधिक अंक हासिल किए. इस बीच उन्‍होंने इंटरनेशनल स्‍तर पर 7 मेडल भी जीते थे.

बता दें, साइना नेहवाल को घुटने और ग्रोइन की चोट से उबरने के बाद ये उनका पहला टूर्नामेंट था. मालविका से हार के बाद उन्होंने कहा- पिछले साल अक्टूबर में, मैं चोटिल हो गई थी. मैंने 27 दिसंबर से दोबारा खेलना शुरू किया. इस टूर्नामेंट में यह देखने आई थी कि मैं अभी कहां खड़ी हूं और कितने सुधार की और जरूरत है.

मुझे खुशी है कि मैं दो मैच खेल पाई. हालांकि, यह स्वीकार करना होगा कि खराब फिटनेस के साथ मालविका, अकाशी और सिंधु जैसी खिलाड़ियों के खिलाफ खेलना काफी मुश्किल है. मालविका के बारे में साइना ने कहा- वह अच्छा खेल रही है और उसके खेल में लगातार सुधार आ रहा है. रैली खेलने में वह बेहतरीन है. उम्मीद है कि इस टूर्नामेंट में मालविका आगे भी अच्छा परफॉर्म करेगी.

Latest News

To Top