फुल वॉल्यूम 360°

15 से 18 साल वालों को आज से लगेगा कोरोना का टीका, Patna में CM Nitish करेंगे मेगा अभियान की शुरुआत

15-to-18-vaccination
Share Post

PATNA : कोरोना (Corona) और ओमीक्रोन के खतरों के बीच सोमवार से 15 से 18 साल के बच्चों को टीका लगाने का महाअभियान शुरू हो रहा है. बिहार के 2801 टीकाकरण केंद्रों पर 15 से 18 साल के 83.46 लाख लड़के-लड़कियों को कोरोना का टीका दिया जायेगा. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) सुबह 10 बजे पटना (Patna) के IGIMS अस्पताल परिसर में किशोरों के कोरोना टीकाकरण अभियान की शुरुआत करेंगे. इसे लेकर बिहार के अभिभावकों और बच्चों में भी खासा उत्साह देखा जा रहा है.

बिहार स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक 15 से 18 साल के बच्चों को टीका लगाने को लेकर सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. सीएम नीतीश आज इस महाअभियान की शरुआत करेंगे. और इस दौरान वहां बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत, राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह सहित कई दूसरे पदाधिकारी भी मौजूद रहेंगे.

जानकारी मिली है कि इस कार्यक्रम में लगभग आधा दर्जन किशोरों को कोरोना टीका भी लगाया जायेगा. आपको बता दें कि पटना में 87 केंद्र बनाए गए हैं. टीका लेने के बाद बच्चों को आधे घंटे तक टीकाकरण केंद्र पर रुकना होगा. राज्य के प्रत्येक प्रखंड में एक विद्यालय को किशोरों के टीकाकरण को लेकर टीकाकरण केंद्र बनाया गया है. रविवार से ही किशोरों के टीकाकरण के लिए स्लॉट बुकिंग का काम शुरू हो गया है. टीका केंद्रों पर ऑनस्पॉट रजिस्ट्रेशन भी कराने की सुविधा दी जाएगी.

पटना में बच्चों के टीकाकरण अभियान के लिए 87 टीमें बनाई गई है. रविवार को जिलाधिकारी डॉ चंद्रशेखर सिंह ने स्कूल संचालकों और प्रिंसिपलों के साथ बैठक कर इस संबंध में दिशा निर्देश दिए. जिलाधिकारी ने बताया कि 53 ग्रामीण स्कूल, 20 शहरी स्कूल, 14 टीम मेडिकल कॉलेज और 24 घंटे संचालित होने वाले केंद्र के लिए टीमों का गठन किया गया है. स्कूल में लगने वाले कैंप में उसी स्कूल के बच्चे को टीका दिया जाएगा. अगर कोई किशोर पहले टीका लगवाना चाहता है तो नजदीक के टीकाकरण केंद्र में जाकर टीका ले सकता है.

बच्चों के टीकाकरण के लिए अमूमन ऐसा देखा जाता है कि क्लास 9 से 12 तक के बच्चे ही इस आयु वर्ग में आते हैं. इस आयु वर्ग में जिले के 720 स्कूलों में 4 लाख 93 हजार किशोर नामांकित हैं. ये बच्चे 425 सरकारी और 295 निजी स्कूलों के हैं. जिलाधिकारी ने स्कूलों का तिथिवार रोस्टर बनाने और टीम को स्कूलों से संबद्ध कर समन्वय बनाने साथ ही सूचना देने का निर्देश दिया.

Latest News

To Top