लंचबॉक्स लाइफ स्टाइल

सर्दी का संजीवनी है गोंद के लड्डू, घर पे बनाना है आसान

सर्दियों के मौसम में लोग अपने चेहरे और सेहत दोनों का ख़ासा ख्याल रखते हैं। क्योंकि सर्दियों में चेहरे का स्किन खींचने लगता है और सेहत ख़राब होने का दर भी बढ़ जाता है। और इस मौसम में लोग अपनी सेहत को ले कर काफी गंभीर हो जाते है। तो इसीलिए आज हम आपके लिए कुछ ऐसा ही ले कर आये है जो आपके सेहत के लिए काफी फायदेमंद रखेगा।

आप लोग काफी सुने होंगे की सर्दियों में च्यवनप्राश खाना चाहिए और जिससे आपके शरीर को सर्दियों में बीमारीयों से लड़ने का ताकत प्रदान करता है। लेकिन इसके साथ साथ क्या अपने ये सुना है की लड्डू से भी आपको बीमारी लड़ने का ताकत मिलता है। जी हाँ गोंद का लड्डू सर्दियों में सेहत के लिए काफी फायदेमंद होती है।

गोंद की तासीर गर्म होती है इसीलिए सर्दियों में इसका सेवन करना चाहिए,इसके रोज सुबह खाने से सारे दिन शरीर को गर्मी मिलती है। गोंद के लड्डू से न केवल शरीर को लाभ मिलता है बल्कि दिमाग को भी मजबूत करता है। सर्दियों में जोड़ों के दर्द काफी बढ़ जाता है इसीलिए सर्दियों में गोंद का लड्डू खाने से हाड़ियाँ मजबूत होती है। सुबह सुबह दूध के साथ गोंद का लड्डू खाने से रोग प्रतिरोधक छमता बढ़ती है।

गर्भवती महिलाओं के लिए ये लड्डू काफी लाभदायक है। इसके सेवन से उनकी रीढ़ की हड्डी मजबूत होती है। थकान , कमजोरी , माइग्रेन जैसी बीमरियों के लिए भी ये काफी लाभदायक है। साथ ही कब्ज से रहत मिलती है।

सामग्री

गेहूं का आटा- 1 कप
बूरा- 1 कप
घी- ¾ कप
गोंद- ⅓ कप (100 ग्राम)
काजू- 10 से 12
खरबूजे के बीज- 2 टेबल स्पून
इलाइची पाउडर- ¼ छोटी चम्मच

विधि

गोंद को बारीक टुकड़ों में तोड़ लीजिए, काजू को छोटा छोटा काट लीजिये।

कढ़ाही में आधे से अधिक घी डालकर गरम कीजिये। गरम घी में थोड़ा-थोड़ा गोंद डालकर लगातार चलाते हुए तलिये (गोंद घी में पापकार्न की तरह फूलता है, गोंद को बिलकुल धीमी आग पर ही तलिये ताकि वह अन्दर तक अच्छी तरह भुन जाय। गोंद सिक गया है या नही, इसे चैक करने के लिए एक टुकड़ा गोंद का निकालकर हाथ से दबाकर देखिए, यह चूरे की तरह हो जाना चाहिए। गोंद के अच्छी तरह फूलने और सिकने के बाद प्लेट में निकालिये, सारा गोंद इसी तरह तलकर निकाल लीजिये।

बचे हुये घी में आटा डालकर हल्का ब्राउन होने तक धीमी आंच पर लगातार चलाते हुए भून लीजिए। आटे से अच्छी महक आने और हल्का ब्राउन होने पर आटा भुनकर तैयार है। गैस बंद कर दीजिए और आटे को एक प्लेट में निकाल लीजिए।

गरम कढ़ाही में बीज डालकर लगातार चलाते हुए भून लीजिए। इसमें जरा सा घी भी डाल सकते हैं। बीज भुनते समय उचटते है, इसलिए कढ़ाही के थोड़ा ऊपर एक प्लेट रख लीजिए ताकि ये उचटकर बाहर ना आ गिरें। भुने बीज को आटे पर डाल लीजिए। इसमें काजू के टुकड़े, इलायची पाउडर डाल दीजिए।

गोंद के ठंडा हो जाने पर थाली में ही बेलन से दबाव डालकर थोड़ा और बारीक कर लीजिये। एक प्याले में गोंद और सारी चीजें डालकर मिक्स कर लीजिए। साथ ही बूरा भी डालकर मिला लीजिए। लड्डू बनाने के लिए मिश्रण तैयार है। मिश्रण से थोड़ा थोड़ा मिश्रण उठाइये और गोल लड्डू बनाकर थाली में लगाइये। सारे मिश्रण से लड्डू बनाकर थाली में लगा लीजिये।

गोंद के स्वादिष्ट लड्डू तैयार हैं। 1-2 घंटे गोंद के लड्डू हवा में ही रहने दीजिये। आप ये गोंद के लड्डू एअर टाइट कन्टेनर में भरकर रख लीजिये और 2 महीने तक खाते रहिए।