हेल्थ लाइफ स्टाइल

ये RT-PCR किट लगाएगी कोविड-19 के विभिन्न म्युटेंट स्ट्रेन्स का पता

RT-PCR
Spread It

कोरोना वायरस महामारी कई रूपों के साथ दूसरी लहर से गुजर रही है, ऐसे में वायरस का सटीक पता लगाने के लिए टारगेट जीन का चयन महत्वपूर्ण होता जा रहा है। इस कोविड-19 वायरस के विभिन्न म्युटेंट स्ट्रेन्स की पहचान करने के मामले में हाल ही में एक मल्टीप्लेक्स RT-PCR किट विकसित की गई है। इस किट में वैश्विक महामारी के लिए जिम्मेदार वायरस के विभिन्न म्युटेंट स्ट्रेन्स में कोविड-19 का पता लगाने की उच्च सटीकता है।

यह RT-PCR किट, भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग के अंतर्गत राष्ट्रीय महत्व के एक संस्थान Sree Chitra Tirunal Institute for Medical Sciences and Technology (SCTIMST) द्वारा विकसित की गयी है। ये नई मल्टीप्लेक्स किट, म्युटेंट स्ट्रेन्स की एक रेंज की पहचान करने के लिए इंटरनल कण्ट्रोल के तौर पर SARS CoV2 के दो अलग-अलग जीन को टार्गेट करती है।

यह नई किट multiplex Taqman chemistry पर आधारित है, जो सिंगल रिएक्शन में तीनों जीन को बढ़ाती है। Nasopharyngeal swab नमूनों से RNA आइसोलेशन के लिए आवश्यक समय के अलावा, इस जाँच के लिए एम्प्लिफिकेशन समय 45 मिनट है। इन दो कन्फर्मेट्री जीन की मल्टीप्लेक्सिंग से संभावित नए वेरिएंट की पहचान करने में मदद मिलेगी। यदि दो जीन में से कोई एक बढ़ने में विफल हो जाता है तो भी उसे सीक्वेंस एनालिसिस के लिए चिन्हित किया जा सकता है।

ICMR ने इस किट को पुणे स्थित National Institute of Virology में मान्यता दिलाई है, और जांच के दौरान पाया गया है कि इस किट में कोविड-19 का पता लगाने के मामले में 97.3% संवेदनशीलता और 100% विशिष्टता है। SCTIMST ने इस किट के व्यावसायिक इस्तेमाल के लिए 14 मई, 2021 को Huwel Lifesciences, हैदराबाद के साथ एक नॉन-एक्सक्लुसिव लाइसेंस समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए हैं।

Captian Amrindra Singh : पंजाब के मुख्यमंत्री का ऐलान, 100% टीकाकरण करने वाले गांव को दिए जाएंगे 10 लाख