लाइफ स्टाइल हेल्थ

सरकारी हो या प्राइवेट अस्पताल, इन राज्यों में होगा कोरोना का मुफ्त इलाज

corona-treatment
Spread It

आंध्रप्रदेश के जगन मोहन रेड्डी (Jagan Mohan Reddy) की सरकार ने अपने राज्य में सभी कोविड मरीजों का इलाज मुफ्त में करने की घोषणा की है। फिर चाहे वह सरकारी अस्पताल हो या गैर सरकारी अस्पताल, कहीं कोई पैसा नहीं लगेगा। इसके चलते प्राइवेट अस्पतालों में इलाज के लिए रेट भी तय कर दिए गए है। जिससे कि कोई भी अस्पताल मरीजों से मनमाना रकम ना वसूल पाए। आंध्र प्रदेश के इस फैसले से कोरोना इलाज में हो रहे कालाबाजारी पर रोक लगेगी। जगमोहन रेड्डी के इस फैसले के बाद देश के कई राज्यों के नेता अपने राज्य की सरकार से ऐसे ही फैसले के लिए मांग कर रहे हैं।

झारखंड (Jharkhand) की यूपीए सरकार से भी इसी तरह का निर्णय लेने की मांग की जा रही है। आजसू अध्यक्ष और पूर्व उप मुख्यमंत्री सुदेश महतो ने आंध्र सरकार की तर्ज पर कोविड मरीजों के लिए झारखंड में भी सरकारी और गैर सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज करने के फैसला करने की मांग की है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Chauhan) ने भी कोरोना नियंत्रण के लिए कोर ग्रुप की बैठक की है। कोरोना के निःशुल्क इलाज़ के लिए नई योजना लागू किए जाने पर फैसला लिया गया है। कोर ग्रुप के इस बैठक में तय किया गया है कि आयुष्मान योजना के जरिए निजी अस्पतालों को विशेष पैकेज दिया जाएगा। निजी अस्पतालों को कोविड इलाज़ के लिए अनुबंधित किया जाएगा । राज्य के कुछ बड़े अस्पतालों को छोड़ कर सरकार बाकी निजी अस्पतालों को अनुबंधित करेगी।

वहीं मंत्री नरोत्तम मिश्रा (Narottam Mishra) ने स्पष्ट किया है कि कोरोना मरीजों का प्राइवेट अस्पतालों में मुफ्त में इलाज होगा। मध्यप्रदेश सरकार गरीबों का इलाज निजी अस्पतालों में मुफ्त में कराएगी। उनका इलाज आयुष्मान भारत योजना के के अंतर्गत कराया जाएगा। मंत्री ने बताया कि प्रदेश के 579 निजी अस्पतालों में गरीबों का इलाज मुफ्त में हो सकेगा।