लाइफ स्टाइल हेल्थ

AIIMS ने जारी किए Black fungus से बचाव के गाइडलाइंस

black-fungus
Spread It

कोरोना महामारी के एक और महामारी बनकर उभर रहा ब्लैक फंगस (Black fungus) की समस्या तेजी से बढ़ती जा रही है। बिहार(BIhar), महाराष्ट्र (Maharashtra), राजस्थान(Rajasthan), गुजरात(Gujrat), उत्तरप्रदेश (Uttar Pradesh) सहित कई राज्यों में ब्लैक फंगस के मामले तेजी से बढ़ते जा रहे हैं। और साथ ही ब्लैक फंगस के चलते मौतों का आंकड़ा भी बढ़ता जा रहा है। ये फंगस आंखों और दिमाग पर बहुत बुरा असर डालता है, जिससे इस फंगस से संक्रमित मरीजों की जान भी चली जा रही है। कई राज्यों में लगातार बढ़ते ब्लैक फंगस के मामलों के बीच अब आईसीएमआर (ICMR) के बाद एम्स (AIIMS) ने भी इससे बचने और इसे पहचानने के लिए गाइडलाइन जारी की है।

ब्लैक फंगस को कैसे पहचाने:

अगर किसी व्यक्ति के नाक से खून बहना या काला सा कुछ निकलना या फिर पपड़ी जमना या चेहरे का सुन्न हो जाना।

दांतों का गिरना या फिर मुंह के अंदर सूजन और मुंह खोलने में दिक्कत।

कुछ भी खाने के बाद चबाने में दिक्कत और नाक बंद होना।

सिर दर्द के साथ आंखों में दर्द और आंखों का लाल होना।

आंखों की रोशनी कम हो जाना और आंखों को खोलने बंद करने में समस्या।

इससे कैसे बचें:

अगर आपको ब्लैक फंगस के कोई भी लक्षण नजर आते हैं तो आप तुंरत ईएनटी (ENT) के डॉक्टर से कांटेक्ट करे।

अगर ब्लड शुगर की समस्या है तो रोजाना उसे टेस्ट करें।

डॉक्टर की सलाह से सीटी स्कैन या फिर एमआईआर कराएं।

स्टेरॉयड का सेवन तुरंत बंद करें। इसके साथ ही बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी दवा ना लें।

अच्छी तरह से ट्रीटमेंट का ध्यान रखें। दवाओं को लेकर किसी भी तरह की लापरवाही ना बरतें।

O.P. Bharadwaj : भारतीय बॉक्सिंग जगत को गहरा आघात, नहीं रहे बॉक्सिंग के पहले द्रोणाचार्य अवार्ड विजेता