पासबुक फुल वॉल्यूम कॉर्नर

विदेशी मुद्रा भंडार में भारत ने पाई बढ़त, रूस को पछाड़ पाया ये स्थान

foreign-exchange-reserves
Spread It

विदेशी मुद्रा भंडार(Foreign exchange reserves) में भारत(India), दुनिया का चौथा सबसे बड़ा देश बन गया है। इसमें भारत ने रूस को पछाड़ दिया है। दोनों देशों के लिए विदेशी मुद्रा भंडार में तेजी से वृद्धि के महीनों के बाद, इस साल ज्यादातर सपाट हुआ है। हाल के सप्ताहों में रूस के विदेशी मुद्रा भंडार में तेजी से गिरावट आई है और भारत रूस से आगे निकल गया है।

International Monetary Fund table के अनुसार चीन के पास सबसे बड़ा विदेशी मुद्रा भंडार है, जिसके बाद जापान और स्विटजरलैंड है। भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) के अनुसार 5 मार्च को भारत की विदेशी मुद्रा होल्डिंग, जो $ 4.3 बिलियन से $ 580.3 बिलियन तक गिर गई, रूस के $ 580.1 बिलियन से आगे निकल गई।

भारत के विभिन्न भंडार पर्याप्तता में काफी सुधार हुआ है, खासकर पिछले कुछ वर्षों में। भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, जो लगभग 18 महीनों के आयात को कवर करने के लिए पर्याप्त है, करेंट अकाउंट सरप्लस, विदेशी प्रत्यक्ष निवेश और घरेलू शेयर बाजार द्वारा बढ़ाया गया है। RBI ने 2020 में फॉरेक्स मार्केट में 88 बिलियन डॉलर का नेट खरीदा, जिसने एशिया की प्रमुख मुद्राओं के बीच रुपये को सबसे खराब प्रदर्शन करने में मदद की और मुद्रा हेरफेर के लिए ‘अमेरिकी ट्रेजरी वॉचलिस्ट’ पर जगह बनाई।

Add Comment

Click here to post a comment