फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा

जानिए बिहार में 1,121 करोड़ से बनीं 130 किलोमीटर की चार सड़कों का रास्ता

NITISH KUMAR
Spread It

मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन किये गए सड़कों में पहले में भोजपुर जिले की सड़क शामिल है। निगम के प्रबंध निदेशक पंकज कुमार ने बताया कि बिहिया-जगदीशपुर पीरो-बिहटा राज्य उच्च पथ संख्या-102 का लोकार्पण हुआ। पटना बक्सर 4-लेन सड़क से सोन नदी के पश्चिमी किनारे आकर दनवार बिहटा में मिलता है, जहां से नासरीगंज दाउदनगर पुल के माध्यम से मगध प्रमंडल क्षेत्र की संपर्कता स्थापित होती है। 54.519 किमी लंबी इस सड़क की लागत 504.208 करोड़ है। इस सड़क को दो लेन में 10 मीटर चौड़ा बनाया गया है। इस सड़क में आरा-सासाराम  रेल लाईन पर पीरो में एक  Road Over Bridges का निर्माण हुआ है।

अब दूसरी सड़क की बात करें तो वो है अमरपुर-अकबरनगर  स्टेट हाईवे-85 है।ऐसा कहा जा रहा है कि ये सड़क भागलपुर, मुंगेर और बांका जिले की ट्रैफिक में बहुत सहायक होगा। 10 मीटर चौड़े इस दो लेन सड़क की कुल लंबाई 29.3 किमी है। और इस सड़क की कुल लागत 220.719 करोड़ आई है। अकबरनगर के पास में सुल्तानगंज से अगुआनी घाट पर नया गंगापुल का निर्माण कार्य किया जा रहा है। उसके बन जाने के बाद इस सड़क के माध्यम से उत्तर बिहार की सुगम संपर्कता स्थापित हो सकेगी।

तीसरा सड़क घोघा-पंजवारा स्टेट हाईवे 84 है। भागलपुर और बांका के लिए उपयोगी इस राज्य उच्च पथ की लंबाई 41.11 किमी है। इसके बन जाने से ये भागलपुर शहर के बाहरी बाईपास की तरह भी काम करेगा। जिससे संथालपरगना क्षेत्र से पत्थर लदे ट्रकों के आवागमन में व्यापक सहूलियत होगी। इस पथ में घोघा बाजार में एक रेल ओवर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है जो जनवरी 2022 तक बन कर तैयार हो जायेगा।

अब आखिरी सड़क कि बात करें तो वो है बिहारीगंज बाईपास है जो उदाकिशुनगंज, मधेपुरा और सुपौल जिलों के लिए बहुत फायदेमंद है। उदाकिशुनगंज-वीरपुर स्टेट हाईवे-91 के तहत बिहारीगंज बाईपास का निर्माण कार्य भू-अर्जन में delay के कारण देरी से हुआ है। लेकिन अब इस 4.55 किमी लंबे बाईपास का निर्माण पूरा कर लिया गया है। उदाकिशुनगंज से भटगामा होते हुए विजयघाट पुल के माध्यम से नवगछिया तक की संपर्कता सुनिश्चित करने को SH-58 का 10 मीटर चौड़ीकरण अक्टूबर में पूरा हो जाएगा। इसके बाद पूर्वी बिहार और झारखंड से कोसी प्रमंडल होते हुए संपूर्ण उत्तर बिहार और नेपाल सीमा तक की निर्बाध एवं सर्वमौसमी संपर्कता सुनिश्चित हो सकेगी।

मुख्यमंत्री द्वारा उद्घाटन किये गए इन 3 सड़को और 1 बाईपास से बिहारवासियों को काफी सहुलियत होगी। दूसरे जिलों से संपर्कता के साथ साथ संस्कृति का भी विस्तार होगा।