फुल वॉल्यूम कॉर्नर संस्कृति

हाथी घोड़ा पालकी, जय कन्हैया लाल की, जानें कृष्ण जन्माष्टमी की तिथि व शुभ मुहूर्त

krishna
Spread It

हिंदी पंचांग के अनुसार फिलहाल भाद्रपद या भादो का महीना चल रहा है। इसकी शुरुआत 23 अगस्त से हुई। भाद्रपद का महीना आरंभ होते ही श्री कृष्ण के सभी भक्तों को केवल एक ही चीज़ का इंतज़ार रहता है और वो है कृष्ण जन्माष्टमी। प्रत्येक वर्ष भाद्रपद मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि कृष्ण अष्टमी या कृष्ण जन्माष्टमी के रूप में मनाई जाती है। ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान श्री कृष्ण ने धरती पर जन्म लिया था।   

हिंदू धर्म में कृष्ण जन्माष्टमी के त्यौहार को बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दौरान श्री कृष्ण के सभी मंदिरों को खूब अच्छे से सजाया जाता है और चारों ओर हर्षोल्लास का माहौल होता है। ऐसा माना जाता है कि भगवान श्री कृष्ण का जन्म आधी रात में हुआ था। इसलिए मध्य रात्रि में ही भक्त श्री कृष्ण के जन्म का जश्न मनाते हैं। उदया तिथि के दिन पूजा करने का और व्रत रखने का विधान होता है। 

धार्मिक दृष्टि से इस पूजा और व्रत को बहुत महत्वपूर्ण बताया जाता है। कहते हैं कि श्री कृष्ण को प्रसन्न करने के लिए ये दिन सर्वोत्तम होता है। यदि साधक इस दिन श्री कृष्ण को प्रसन्न करने से सफल होते हैं तो उनकी सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। इसके साथ ही व्यक्ति के जीवन से सभी कष्टों और दुखों का निवारण होता है। अगर आप भी श्री कृष्ण को प्रसन्न करना चाहते हैं तो विधिवत रूप से उनकी पूजा करें और व्रत रखें। तो आइए जानते हैं इस वर्ष कृष्ण जन्माष्टमी किस दिन पड़ रही है और इस दिन पूजा करने की सही विधि क्या है।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त

इस साल भाद्र पद कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 29 अगस्त को रात 11:25 बजे शुरू होगी और 31 अगस्त को दोपहर 1:59 बजे समाप्त होगी। चूंकि कृष्ण का जन्म मध्यरात्रि में होता है, इसलिए पूजा निशिता काल के दौरान की जाती है। इसलिए, पूजा का समय 11:59 बजे (30 अगस्त) से 12:44 बजे (31 अगस्त) के बीच है। 

जन्माष्टमी का व्रत रखने वाले श्रद्धालु 31 अगस्त को सुबह 9:44 बजे के बाद ही इसे तोड़ सकते हैं। यदि कोई व्यक्ति व्रत तोड़ने के लिए इतना लंबा इंतजार नहीं कर सकता है, तो वह 31 अगस्त को सुबह 5:59 बजे के बाद पारण कर सकता है। 

इस पर्व के दौरान रोहिणी नक्षत्र का समय भी बहुत महत्वपूर्ण होता है, इस वर्ष यह 30 अगस्त को सुबह 6:39 बजे से शुरू होकर 31 अगस्त को सुबह 9:44 बजे समाप्त होगा।