फुल वॉल्यूम कॉर्नर संस्कृति

मौनी अमावस्या पर बना महोदय योग, जानें क्या है महोदय योग

mauni-amavasya
Spread It

माघ के महीने में आने वाली अमावस्या को मौनी अमावस्या कहते हैं। मौनी अमावस्या का शास्त्रों में बहुत बड़ा महत्व बताया गया है। मौनी अमावस्या इस वर्ष 11 फरवरी 2021 को पड़ रही है। माघ महीने में गंगा स्नान करना काफी शुभ होता है, लेकिन मौनी अमावस्या पर गंगा स्नान का पुण्य कई गुना बढ़ जाता है। मौनी अमावस्या पर भगवान विष्णु और पीपल के पेड़ की पूजा-उपासना करना बहुत शुभ मानी जाती है।

मौनी अमावस्या पर ग्रहों का महासंयोग इस साल एक विशेष संयोग बन रहा है। उस दिन श्रवण नक्षत्र में चंद्रमा और मकर राशि में छह ग्रहों की युति से महासंयोग बनेगा। इसे महोदय योग भी कहा जाता है। महोदय योग में गंगा स्नान करना बहुत शुभ माना गया है।

शुभ मुहूर्त मौनी अमावस्या का :

महासंयोग के बीच सुबह या शाम को स्नान के पहले संकल्प लें। पहले जल को सिर पर लगाकर प्रणाम कीजिये, फिर स्नान करें। साफ कपड़े पहनें और जल में काले तिल डालकर सूर्य को अर्घ्य दीजिये। फिर मंत्र जाप कीजिये और सामर्थ्य के अनुसार वस्तुओं का दान करें। इस दिन जल और फल ग्रहण करके उपवास भी रख सकते हैं।

मौनी अमावस्या का शुभ मुहूर्त 10 फरवरी 2021 से 11 फरवरी 2021 की रात 12:27am तक रहेगी। इस दिन क्रोध करने से बचें। किसी को भी अपशब्द न बोलें। ज्योतिषों की मानें तो इस दिन बेहतर होगा कि आप मौन रहकर ईश्वर का ध्यान कीजिये, क्योंकि मौनी अमावस्या के दिन मौन रहकर मानसिक जाप करने से कई गुना ज्यादा फल मिलेगा।

Add Comment

Click here to post a comment