संस्कृति फुल वॉल्यूम कॉर्नर

Chandra Grahan ( Lunar eclipse) : इस दिन लगने जा रहा है साल का पहला चंद्र ग्रहण

chandra-grahan
Spread It

इस साल के बैसाख महीने की पूर्णिमा यानी 26 मई को साल का पहला चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) लगने जा रहा है। ये चंद्र ग्रहण (
Lunar eclipse) भारत के पूर्वी भाग में आंशिक रूप से अंतिम समय में दिखाई देगा। उस समय को सूतक काल माना जाएगा। साथ ही यह उप छाया ग्रहण होगा। इस ग्रहण में किसी भी प्रकार के धार्मिक कामों पर रोक नहीं होती। आपको बता दें 26 मई को ग्रहण दोपहर 2.17 बजे से शुरू होकर शाम 7.19 बजे तक खत्म होगा। यह चंद्र ग्रहण साल का पहला और उपछाया ग्रहण होगा।

पूर्वी एशिया, प्रशांत महासागर, उत्तरी एवं दक्षिणी अमेरिका के ज्यादातर हिस्सों में और आस्ट्रेलिया में पूर्ण चंद्र ग्रहण नजर आएगा। यह भारत के अधिकांश भाग में पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान क्षितिज के नीचे रहेगा। इसलिए यहां पूर्ण चंद्र ग्रहण नजर नहीं आएगा। लेकिन पूर्वी भारत के कुछ भागों में लोगों को आंशिक चंद्र ग्रहण का आखिरी भाग देखने को मिलेगा।

इस दौरान ये ना करें-

  • चंद्र ग्रहण के दौरान किसी भी तरह के शुभ कार्य न करें।
  • भोजन बनाने और खाने से बचें।
  • लड़ाई झगड़ों से बचें।
  • धारदार चीजों का इस्तेमाल न करें।
  • ग्रहण काल में सोना वर्जित माना गया है।
  • इस दौरान मल-मूत्र विसर्जन भी निषेध होता है।
  • ग्रहण के समय शारीरिक संबंध न बनाएं।
  • ग्रहण काल में गर्भवती महिला घर से बाहर न निकलें।

इस दौरान ये कर सकते हैं-

  • ग्रहण के समय मन ही मन अपने कुल देव को प्रणाम करें।
  • मंत्रोंच्चारण करने से ग्रहण की नकारात्मक ऊर्जा दूर होती है।
  • ग्रहण खत्म होने के बाद आटा, चावल, चीनी आदि चीजों का दान दें।
  • ग्रहण लगने से पहले ही खाने पीने की चीजों में तुलसी के पत्ते डालकर दें।
  • ग्रहण खत्म होने के बाद घर की सफाई कर, स्नान करें।

Jenny Jerome : केरल की पहली कमर्शियल पायलट जेनी जेरोम, ये थी पहली उड़ान