संस्कृति देश फुल वॉल्यूम 360° फुल वॉल्यूम कॉर्नर

इन नियमों के साथ चारधाम यात्रा शुरू

char-dham-yatra
Spread It

कोविड-19 महामारी के कारण लंबे समय तक स्थगित रहने के बाद इस वर्ष की चारधाम यात्रा आज (शनिवार, 18 सितंबर) से शुरू हो रही है। उत्तराखंड उच्च न्यायालय द्वारा चारधाम यात्रा पर रोक हटाए जाने के एक दिन बाद शुक्रवार को राज्य सरकार ने कोविड-19 संबंधी नियमों के सख्त अनुपालन के साथ विस्तृत मानक प्रचालन विधि (SOP) जारी किया है।

SOP के मुताबिक, चारधाम यात्रा पर आए प्रत्येक तीर्थयात्री को 72 घंटे पहले RT-PCR कोविड निगेटिव रिपोर्ट या कोविड रोधी टीके की दोनों खुराक लगे होने का प्रमाण-पत्र पेश करना अनिवार्य है। इसके अलावा, कोरोना की दृष्टि से संवेदनशील राज्यों (केरल, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश) से आने वाले तीर्थयात्रियों के लिए 72 घंटे पहले की कोरोना मुक्त जांच रिपोर्ट लाना भी अनिवार्य होगा।

उच्च न्यायालय के श्रद्धालुओं की संख्या सीमित रखे जाने के निर्देशों के मद्देनजर SOP में बदरीनाथ में प्रतिदिन अधिकतम 1000, केदारनाथ में 800, गंगोत्री में 600 और यमुनोत्री में 400 श्रद्धालुओं की संख्या निर्धारित की गई है।

राज्य के बाहर से आने वाले तीर्थयात्रियों को उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम बोर्ड की वेबसाइट पर पंजीकरण कराना होगा और उसी वक्त उन्हें कोविड मुक्त रिपोर्ट या टीकाकरण का प्रमाण-पत्र अपलोड करना होगा। बच्चों, बीमार लोगों और अति वृद्धों को यात्रा की अनुमति नहीं दी गई है। मंदिर में दर्शन हेतु एक बार में तीन श्रद्धालु ही प्रवेश‌ करेंगे। मंदिर में मूर्तियों या घंटियों को छूने पर मनाही होगी।