बिहारनामा फुल वॉल्यूम कॉर्नर

राजधानी के इन 38 जगहों पे बनेंगे High Tech Smart Parking

Spread It

राजधानी पटना (Patna) में जाम न लगे उसके लिए आये दिन कोई न कोई एलिवेटेड रोड की मंजूरी केंद्र सरकार द्वारा मिल रही है। लेकिन रोड के साइड खड़ी गाड़ियों से, लगने वाले जाम से राजधानी को कैसे बचाया जाये?

राजधानी पटना में अब जल्द ही पार्किंग की समस्या को दूर करने के लिए खास तैयारी चल रही है। और इसकी जिम्मेदारी पटना नगर निगम ने अपने कंधो पर ली है। PMC ने पायलट प्रोजेक्ट के आधार पर राजधानी के कुल 38 जगहों पर स्मार्ट पार्किंग (High Tech Smart Parking) स्थल विकसित करने का फैसला लिया है।


पटना में लोगों के समय की बचत हो इसके लिए पटना नगर निगम ने पटनावासीयों को जल्द पार्किंग के लिए होने वाली दिक्कतों से निजात दिलाने का मन बना लिया है। इसके लिए पटना नगर निगम ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत 38 जगहों को स्मार्ट पार्किंग स्थल के तौर पर विकसित करने का फैसला लिया है। इसे लेकर नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने कहा है कि हरियाणा की एक निजी कंपनी को आने वाले कुछ दिनों में इसकी जिम्मेदारी सौंपी जाएगी। इन स्मार्ट पार्किंग को लेकर पटना नगर निगम को उम्मीद है कि अगस्त के आखिर तक स्मार्ट पार्किंग सिस्टम तैयार हो जाएगा।


इन 38 स्मार्ट पार्किंगों का काम स्मार्ट पार्किंग परियोजना के तहत किया जा रहा है। इसके तहत सेवा को भी बेहतर और सुविधाजनक बनाया जाएगा। जिसके लिए आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस की भी मदद ली जाएगी। बता दें ये प्रोजेक्ट Public-private partnerships के तहत पटना में पार्किंग की समस्या से निजात के लिए शुरू किया जा रहा है। स्मार्ट पार्किंग सुविधाओं में गाड़ियों की Entry और Exit को नियंत्रित करने के लिए RFID यानी Radio Frequency Identification Sensor के साथ बूम बैरियर लगाए जायेंगे और गाड़ियों का रिकॉर्ड, गाड़ी का मॉडल और नंबर प्लेट आदि के लिए विशेष कैमरे और Smart Ticketing Systems लगाए जायेंगे। इसके साथ साथ पोर्टेबल केबिन, Auto-Pay स्टेशन से लैस इन स्मार्ट पार्किंग मैनेजमेंट सिस्टम को तैयार किया जाएगा।


इन स्मार्ट पार्किंग में छात्रों और बुजुर्गो को ध्यान में रखते हुए फ्री में स्मार्ट पार्किंग की सुविधा देने का विचार चल रहा है। पटना नगर निगम की मेयर सीता साहू ने बताया कि स्मार्ट पार्किंग मैनेजमेंट सिस्टम के अंतर्गत डिजिटल पेमेंट की वजह से पार्किंग वाली जगह की कमाई पर भी नजर रखी जा सकेगी। वहीं स्पेशल कैमरे से यह भी पता लग सकेगा कि कहां कौन सी गाड़ी कितनी देर तक खड़ी रही।


नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा ने बताया की पार्किंग में बेहतर मार्गदर्शन के लिए LED based direction indication लगाए जाएंगे, जिससे लोगों को परेशानी नहीं हो। साथ ही पीने के पानी और टॉयलेट की सुविधाएं भी पार्किंग स्थल पर होगी। Electric गाड़ियों के लिए चार्जिंग की सुविधा भी मौजूद रहेगी। लेकिन केवल उन्हीं वाहनों के लिए जो स्मार्ट पार्किंग में खड़े किए जाएंगे।


स्मार्ट पार्किंग सिस्टम में एक विशेष मोबाइल एप्लिकेशन भी शामिल होगा, जो सवारियों को पार्किंग स्लॉट की उपलब्धता की ऑनलाइन जांच करने में मदद करेगा। इस ऐप की मदद से, निवासियों को पार्किंग स्थल, उपलब्ध स्थान, पार्किंग के रूट की वास्तविक समय की जानकारी मिलेगी। साथ ही पहले से अपनी पार्किंग को आरक्षित करने के लिए प्री-बुकिंग की भी सुविधा रहेगी। ऐप स्मार्ट कार्ड और ऑटोमेटेड-पे स्टेशनों के अलावा ऑनलाइन भुगतान करने का विकल्प भी होगा। जिससे लोग बाजार या अन्य क्षेत्रों में जाने के दौरान अपने वाहन पार्क कर सकें।


नगर निगम के अधिकारियों के अनुसार, इन पॉर्किंग स्थल के बनने से लोगों को अवैध पार्किंग संचालकों से भी निजात मिलेगी। अब आपको बताते हैं कि राजधानी के किन किन जगहों पर ये स्मार्ट पार्किंग बनने वाले हैं। ये स्मार्ट पार्किंग सिस्टम विद्युत भवन के सामने, बीएन कॉलोज, अशोक राजपथ, डाकबंग्ला चौराहा, मारुति शोरूम के पासप और पीएचईडी कार्यालय के पास, पुल निर्माण निगम कार्यालय के पास, श्रीकृष्ण पुरी पार्क के पास, ईको पार्क, गेट 2 और 3 के सामने, सहदेव महतो मार्ग,माउंट कार्मेल स्कूल से लेकर पटना वीमेंस कॉलेज तक,व्यवहार न्यायलय, हनुमान मंदिर के सामने,मौर्य लोक कॉम्पलेक्स और काली मंदिर के पास, दिनकर गोलबंर के पास, कदमकुआं रोड सहित राजधानी के 38 जगहों पर बनेंगे स्मार्ट पार्किंग स्थल। अब देखना ये है कि ये स्मार्ट पार्किंग कब तक बन कर तैयार हो जाता है।