बिहारनामा फुल वॉल्यूम कॉर्नर

Patna में बनेगा Double Decker Road, जानें कब और कहां

double-decker-road-patna
Spread It

अगर मैं आपसे पटना के सबसे बिजी रोड के बारे में पूछूं तो सबसे पहले आपके दिमाग में अशोक राजपथ का नाम जरूर आएगा। पटना यूनिवर्सिटी, पीएमसीएच, शॉपिंग करने के लिए पटना मार्किट, शाम में सुकून के पल के लिए NIT घाट व अन्य एजुकेशनल इंस्टीटूशन्स की वजह से इस रोड पर गाड़ियों का भारी दबाव रहता है। कई बार तो पीएमसीएच जाने के दौरान, जाम में फंसने के कारण गंभीर मरीज अस्पताल नहीं पहुंच पाते हैं और अपनी जान तक गंवा देते हैं। पर अब इन सारी परेशानियों से निजात दिलाने के लिए पटनावासियों को जल्द ही एक बड़ा तोहफा मिलने जा रहा है। जी हाँ ! पहली बार पटना में Double decker elevated road का निर्माण होने जा रहा है। यह रोड गांधी मैदान से साइंस कॉलेज तक बनाई जायेगी।

आइये चलते हैं और जानते हैं की ये रोड कितनी लंबी होगी, इसे कितने की लागत से बनाया जा रहा है और ये कब तक बनकर तैयार हो जायेगी।

पटना के लोगों को जल्द ही अशोक राजपथ पर लगने वाले लंबे चौड़े जाम से छुटकारा मिलने वाला है। पहली बार राजधानी में जाम की समस्या से निजात दिलाने के लिए डबल डेकर एलिवेटेड रोड का निर्माण होगा। इस निर्माण की जिम्मेदारी, बिहार राज्य पुल निर्माण निगम पर सौंपी गई है। इस एलिवेटेड रोड की कुल लम्बाई करीब 2 किलोमीटर होगी और इसके निर्माण में लगभग 442 करोड़ रूपए की लागत आएगी।

आपको बता दें कि अशोक राजपथ की सड़के चौड़ी न होने के कारण और इसमें हर समय जाम लगने के कारण डबल डेकर एलिवेटेड रोड बनाने का निर्णय लिया गया है। यह रोड राजधानी का पहला और बिहार का दूसरा डबल डेकर एलिवेटेड रोड होगा। इससे पहले छपरा में ऐसे रोड बनाये जा चुके हैं।

आईये चलते हैं और जानते हैं इस रोड के रूट के बारे में। इस रोड की शुरुआत गांधी मैदान स्थित कारगिल चौक के उत्तर ऑटो स्टैंड से होगी। तैयार होने वाले डबल डेकर रोड में कारगिल चौक से पीएमसीएच, पटना कॉलेज, एनआईटी की तरफ जाने वाले लोग दूसरे तल से जा सकेंगे, जबकि एनआईटी से गांधी मैदान की तरफ लोग पहले तल से आएंगे। आपको बता दे की गांधी मैदान की तरफ आने वाली एलिवेटेड सड़क बीएन कॉलेज के पास नीचे गिरेगी। इसके साथ ही फ्लाईओवर पर तीन जंक्शन बनाये जायेंगे जो कारगिल चौक, कृष्णा घाट और एनआईटी मोड़ के नजदीक होगा।

आपको बता दे की इस डबल डेकर एलिवेटेड रोड के नीचे, दोनों तरफ सर्विस रोड होगा। इस सर्विस रोड से मार्केटिंग करने और नजदीक के ऑफिस में पहुंचने वाले लोग जाएंगे। इसके साथ ही PMCH के अंदर एक मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण होगा। इस पार्किंग से एलिवेटेड रोड की कनेक्टिविटी दी जाएगी।

इस प्रोजेक्ट को जल्द शुरू करने के लिए आठ एजेंसियों को योग्य पाया गया है। इन एजेंसियों में एपको इंफ्राटेक, नागार्जुना कंस्ट्रक्शन, रचना कंस्ट्रक्शन, रॉयल rcpl, sp सिंगला, गॉवर कंस्ट्रक्शन, जनडु नीरज जेवी, वेल्स्पून इंटरप्राइजेज शामिल हैं। इन सभी सेलेक्टेड एजेंसियों की तकनीकी योग्यता जांच की जायेगी और उसके बाद किसी एक एजेंसी को इस रोड को बनाने का जिम्मा दिया जायेगा।

इस रोड के निर्माण कार्य को 3 साल में पूरा किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। ऐसी कोशिश है की इसका निर्माण बरसात बाद शुरू हो जायेगा। आपको बता दें कि अशोक राजपथ में जगह की कमी के कारण इस सड़क की चौड़ाई को बढ़ाना संभव नहीं है। इसलिए सरकार ने अशोक राजपथ में डबल डेकर एलिवेटेड रोड बनाने का निर्णय लिया है। इस एलिवेटेड रोड के बनने से अशोक राजपथ पर लगने वाले भीषण जाम से लोगों को जल्द ही मुक्ति मिल जाएगी।