फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा

बिहार को मिला एक और 4 Lane पुल का सौगात

BIHAR NEW 4 LANE
Spread It

एक समय में राजधानी पटना और हाजीपुर को जोड़ने वाला गांधी सेतु एशिया का सबसे बड़ा ब्रिज था। और बिहार का दूसरा सबसे बड़ा ब्रिज राजधानी से 240 KM दूर, भागलपुर का विक्रमशिला सेतु था। लेकिन समय के साथ साथ ये दोनों ख़िताब किसी और सेतु के सर चढ़ गया। लेकिन अब विक्रमशिला सेतु को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जी हां विक्रमशिला सेतु के सामानांतर अब एक 4 Lane पुल बनाने की कवायद की जा रही है।

बिहार के भागलपुर के गंगा नदी पर Vikramshila Setu के समानांतर एक नए 4 Lane पुल का निर्माण होने जा रहा है। और इस पुल के निर्माण का कार्य इस साल अक्टूबर से ही शुरू हो जाएगा। और ये पुल अगले 4 सालों में पूरा करने की बात की जा रही है। राजसभा में बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और सांसद सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi) के सवाल के जवाब में केंद्रीय सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने बताया कि भागलपुर के पास गंगा नदी पर विक्रमशिला सेतु के समानांतर 1110.23 करोड़ की लागत से नए 4 लेन पुल का निर्माण इस साल अक्टूबर से शुरू होगा। साथ ही ये भी बताया कि बिहार सरकार नए पुल के निर्माण के लिए अपने संसाधन से 40.715 एकड़ निजी भूमि अधिग्रहण के साथ ही 53.035 एकड़ भूमि उप्लब्ध करा रही है।  L & T Limited को इस निर्माण से सम्बंधित 838 करोड़ रुपये का काम सौंपा गया है।

भू-अर्जन में 59 करोड़ रुपये खर्च होंगे। विभागीय अधिकारियों ने बताया कि अगले दस साल तक इस पुल का संरक्षण पुल निर्माण करने वाली एजेंसी द्वारा किया जाएगा। गंगा में मिट्टी की जांच हो चुकी है। एजेंसी ही खुद पुल का डिजाइन भी बनायेगी।

एजेंसी के सीनियर मैनेजर डा. विक्रम दत्ता ने पथ निर्माण विभाग के वरीय पदाधिकारियों से मिले और उन्होंने सारी समस्याओं का जल्द समाधान कर अक्टूबर में हरहाल में पुल निर्माण कार्य शुरू करने का भरोसा दिलाया। साथ ही किसी तरह का बाधा उत्पन्न नहीं होने पर निर्धारित समय पर चार सालों में पुल निर्माण पूरा हो जाएगा।

4.455 KM लंबे इस पुल का निर्माण बरारी श्मशान घाट की ओर विक्रमशिला सेतु से 50 मीटर दूर से शुरू होगा। इस परियोजना को चार साल में पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 68 पायों पर ये 4 लेन पुल बन कर तैयार होगा। साथ ही इस पुल के दोनों साइड पैदल चलने वालों के लिए फुटपाथ का भी निर्माण होगा। पुल की चौड़ाई 29 मीटर, लंबाई 4.455 मीटर और इस 4 लेन सड़क की लंबाई 9.50 किलोमीटर होगी। गंगा नदी पर 120 मीटर का स्पेन बनेगा। नवगछिया की ओर 875 मीटर और भागलपुर की ओर 987 मीटर पहुंच पथ बनेगा।  

नए फोर लेन पुल के बनने से 20 साल पुराने विक्रमशिला सेतु पर वाहनों का दबाव कम होगी और साथ ही सेतु की आयु भी बढ़ जाएगी। जिससे लोगों को जाम की समस्या से निजात मिलेगा। वर्तमान में खगडिय़ा, सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, किशनगंज, कटिहार, अररिया, भागलपुर, बांका सहित झारखंड और बंगाल के रास्ते आने-जाने वाली गाडिय़ों का विक्रमशिला सेतु से आवागमन हो रहा है। जिस कारण लोगों को जाम की समस्या से जूझना पड़ रहा है।