फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा

राजगीर में रोप-वे से connect होगा 4 Lane Elevated Road

rajgir 4lane elevated road
Spread It

बिहार में टूरिस्ट प्लेसों की कमी नहीं है लेकिन यहां टूरिस्टों की कमी जरूर है। और इसी कमी को कम करने के लिए और बहार के राज्यों से बिहार के टूरिस्ट प्लेसों पर आवाजाही बढ़े। इसके लिए बिहार सरकार हर मुमकिन कोशिश कर रही है। इसी सफर में कदम बढ़ाते हुए बिहार के मुखिया नीतीश कुमार की ओर से नालंदा के राजगीर में बाणगंगा से SDM ऑफिस तक 4 लेन एलिवेटेड रोड (4 Lane Elevated Road) बनाने का निर्देश दिया गया है।

बिहार के ऐतिहासिक पर्यटक स्थल राजगीर अपने आप में कई धर्मों को समेटे हुए है। बिहार के राजगीर का अपना एक ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व है। पटना से 100 किमी दूर पहाड़ियों और घने जंगलों के बीच बसा राजगीर न केवल एक प्रसिद्ध धार्मिक तीर्थस्थल है बल्कि एक सुन्दर पर्यटक स्थल के रूप में भी लोकप्रिय है। यहां हिन्दु, जैन और बौद्ध तीनों धर्मों के धार्मिक स्थल हैं। खासकर बौद्ध धर्म से इसका बहुत प्राचीन संबंध रहा है।

यहां की वादियों में बॉलीवुड के legendary एक्टर देवानंद और Dream Girl हेमा मालिनी के ऊपर एक गाना फिल्माया गया है। और अब इस पर्यटक स्थल को दिन प्रति दिन विकसित किया जा रहा है जिससे यहां पर पर्यटकों की भीड़ उमड़े। और लोग बइहर के वृद्ध इतिहास को जाने समझे की प्राचीन काल से ही बिहार कितना समृद्ध रहा है। और जब टूरिस्ट आएंगे तो शहर में यातायात बाधित न हो इसी के लिए मुख्यमंत्री नितीश कुमार के निर्देश पर राजगीर के बाणगंगा से ले कर SDM Office तक 8.7 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड रोड बनाया जायेगा।

बाणगंगा से एसडीएम कार्यालय तक गया-बिहारशरीफ नेशनल हाइवे पर 8.7 किलोमीटर लंबा एलिवेटेड रोड कॉरिडोर बनेगा। इसके निर्माण पर लगभग 1300 करोड़ खर्च होने का अनुमान लगाया गया है। केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने इस 4 लेन एलिवेटेड रोड कॉरिडोर को मंजूरी दे दी है। मंत्रालय के इस फैसले के तहत रोड कॉरिडोर के नीचे से भी एक 4 लेन हाइवे गुजरेगी।

आपको बता दें कि इस एलिवेटेड रोड कॉरिडोर के लिए लगभग 18 एकड़ जमीन की जरूरत पड़ेगी। और इस रोड का निर्माण कार्य 30 महीने यानी 2.5 साल में पूरा करना होगा। कुल 8.7 किलोमीटर कॉरिडोर में एलिवेटेड हिस्से की लंबाई 7.40 किलोमीटर होगी। इस परियोजना में एलिवेटेड रोड में रोप-वे के पास उतरने और चढ़ने के लिए रैम्प भी बनाये जायेंगे।

इसके साथ ही गया बिहारशरीफ हाइवे (NH-82) को बिहार राज्य पथ विकास निगम (BSRDC) द्वारा 4 लेन चौड़ाकरण का काम चल रहा है। इस परियोजना के लिए राज्य वाइल्ड लाइफ बोर्ड की सहमति मिल चुकी है। ये रोड गया, राजगीर, बिहारशरीफ राजमार्ग का हिस्सा है। राजगीर पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का हमेशा से विशेष ध्यान रहा है। इसी साल इसके लिए टेंडर निकालने की योजना बनाई गयी है। पथ निर्माण विभाग के अपर मुख्य सचिव अमृत लाल मीणा ने बताया कि राजगीर अंतरराष्ट्रीय पर्यटन स्थल है। इस 8.7 किलोमीटर में कई टूरिस्ट स्पॉट आते हैं।

बिहार सरकार इन दिनों राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए कई तरह की योजनाओं पर काम कर रही है। राजगीर में पर्यटन की बहुत सारी संभावनाएं हैं। साथ ही राजगीर के आस-पास कई और पर्यटन स्थल स्थित हैं, जैसे- पावापुरी, नालंदा, कुंडलपुर, बोधगया और भी कई सारे। ऐसे में अगर सड़कें बेहतर होंगी तो लोगों को आने-जाने में आसानी होगी और राज्य में पर्यटन बढ़ेगा।