फुल वॉल्यूम कॉर्नर संस्कृति

25 July Sawan : शुरू होने जा रहा है माहदेव के भक्तों का दिन, इस महीने के शुभ दिन

sawan 2021
Spread It

सावन (Sawan) एक ऐसा महीना जिसका इंतज़ार न सिर्फ शिव भक्तों को होता है बल्कि हर किसी को। चाहे वो इंसान हो या पशु-पक्षी हर किसी को इस महीने का इंतज़ार रहता है। सावन के महीने में ही मन को मोहने वाला नृत्य मोरों द्वारा किया जाता है। सावन के महीने को बॉलीवुड में भी काफी एहमियत दी जाती है। रेट्रो से लेकर अभी तक बॉलीवुड में सावन पर कितने गाने फिल्माए गए हैं। सावन का महीना हिन्दू धर्म में बहुत महत्व रखता है। यह महीना महादेव को समर्पित होता है। इस महीने विधि- विधान से भगवान शंकर की पूजा की जाती है। सावन के पुरे महीने का महत्व तो है ही लेकिन सावन के सोमवारी का अपना विशेष महत्व होता है।

ऐसा माना जाता है कि इस महीने शिव की पूजा-अर्चना करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। इस साल सावन की शुरुआत 25 जुलाई से शुरू होने जा रहा है। 25 जुलाई से शुरू हो रहा सावन 22 अगस्त तक चलने वाला है।

तो आइए जानते हैं सावन के महीने में कैसे करें भगवान शिव की पूजा और सावन के सोमवार को :-

इस बार 29 दिनों तक सावन रहेगा और विशेष माने जाने वाले चार सोमवार रहेंगे। इस अवसर पर भगवान की विशेष पूजा-अर्चना और अभिषेक किया जाता है। न केवल मंदिरों में बल्कि हिन्दुओं के घर-घर भी शिव के विभिन्न स्वरूपों का शृंगार किया जाता है। साथ ही सावन महीने में विभिन्न तीज-त्योहारों का उल्लास भी छाएगा। प्रकृति पूजन का पर्व हरियाली अमावस्या और नागपंचमी के साथ ही भाई-बहन के स्नेह का पर्व रक्षाबंधन भी मनाया जाएगा।

सावन का पहला सोमवार 26 जुलाई को, दूसरा 2 अगस्त को, तीसरा 9 अगस्त को और चौथा 16 अगस्त को होगा। इसके साथ साथ इस मास 6 अगस्त को मासिक शिवरात्रि, 8 अगस्त को हरियाली अमावस्या, 10 अगस्त को सजारा दूज, 11 अगस्त को हरियाली तीज, 13 अगस्त को नागपंचमी, 15 अगस्त को गोस्वामी तुलसीदास जयंती, 18 अगस्त को पवित्रा एकादशी और 22 अगस्त को रक्षाबंधन। और यहीं रक्षाबंधन सावन का आखिरी दिन होगा।

इस महीने में भगवान शिव की पूजा करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। सावन में किए गए सोमवार के व्रत का फल बहुत जल्दी मिलता है। जिन लोगों के विवाह में परेशानियां आ रही हैं उन्हें सावन के महीने में भगवान शंकर की विशेष पूजा करनी चाहिए। भगवान शिव की कृपा से विवाह संबंधित समस्याएं दूर हो जाती हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस माह में शिव की पूजा करने से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिलती है और मृत्यु के पश्चात मोक्ष की प्राप्ति होती है।