फुल वॉल्यूम 360° देश फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा

इस स्वतंत्रता दिवस खाकी वर्दी ने बढ़ाया बिहार का मान

bihar police
Spread It

हमारा आज़ाद भारत 75 साल का होने को है। जश्न-ए-आज़ादी के मौक़े पर भारत सरकार ने पुलिसकर्मियों को उनकी बहादुरी के लिए सम्मानित करने का फ़ैसला लिया है। आज़ादी की 75वीं वर्षगाँठ पर भारत सरकार 1380 पुलिसकर्मियों को बहादुरी के लिए पदक प्रदान करने वाली है।
भारत के कुल 1380 पदक पाने वाले पुलिसकर्मियों में बिहार के 23 पुलिस अधिकारियों को स्वतंत्रता दिवस के दिन सम्मानित किया जायेगा। बता दें, दो अफसरों को राष्ट्रपति पुलिस पदक और 21 अफसरों को पुलिस वीरता पदक देने की घोषणा की गई है।

कोरोना महामारी की वजह से स्वतंत्रता दिवस 2019, गणतंत्र दिवस 2020 और स्वतंत्रता दिवस 2020 के अवसर पर राष्ट्रपति और पुलिस पदक के लिए जिन पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों के नाम की घोषणा की गई थी, उन सभी को इस बार सम्मानित किया जा रहा है। 662 पुलिसकर्मियों को उनकी वीरता के लिए पुलिस पदक प्रदान किया जाएगा, जबकि 628 पुलिसकर्मियों को उनकी वीरता के लिए राष्‍ट्रपति पुलिस पदक से सम्‍मानित किया जायेगा। इनमें बिहार के 23 पुलिस पदाधिकारी शामिल हैं।

राष्ट्रपति पुलिस पदक से आर्थिक अपराध इकाई में तैनात इंस्पेक्टर बिपिन कुमार सिंह और पटना एसएसपी ऑफिस में पदस्थापीत दारोगा राम कुमार सिंह को सम्मानित किया जाएगा।

सीआईडी के डीएसपी सुबोध कुमार, सीआईडी के एएसआई कुमार अजित सिंह, सहरसा एसपी ऑफिस में तैनात दारोगा आनंद कुमार सिंह, मिथिला रेंज के आईजी ऑफिस में पोस्टेड दारोगा अरुण कुमार झा, गोपनीय सेल के दारोगा राज नारायण यादव, पूर्णिया के दारोगा सुधाकर सिंह, कटिहार रेल में तैनात दारोगा अर्जुन बेसरा, कैमूर के दारोगा शत्रुघ्न पटेल, सीआईडी के एसएसआई संजय कुमार यादव, एडीजी अभियान दफ्तर में तैनात उमेश पासवान, पुलिस हेडक्वार्टर में तैनात जमादार अजय कुमार दिवेदी, मधनिषेध में पोस्टेड जमादार अमरेंद्र कुमार गुप्ता को पुलिस पदक से सम्मानित किया जाएगा।

इनके साथ-साथ एटीएस के हवलदार अनिल कुमार सिंह, एटीएस के हवलदार ड्राइवर अरुण कुमार सिंह, बिहार स्पेशल आर्म्ड पुलिस-10 पहले बीएमपी, के हवलदार मोहम्मद रिज़वान अहमद, सीवान के सीनियर कांस्टेबल विजय कुमार सिंह, बिहार स्पेशल आर्म्ड पुलिस-14 पहले बीएमपी, के हवलदार लाल बाबू सिंह, बिहार स्पेशल आर्म्ड पुलिस-14 पहले बीएमपी, के ड्राइवर बलराम सिंह, नालंदा पुलिस लाइन में तैनात सिपाही हरिंदर कुमार चौधरी, सीआईडी के कांस्टेबल राम कुमार शर्मा और गोपालगंज रिज़र्व ऑफिस में कार्यरत सिपाही संजय कुमार को पुलिस पदक से सम्मानित किया जाएगा।

एसएसबी पूर्णिया सेक्टर हेडक्वार्टर में तैनात महिला कमांडेंट डॉ के विनोद कुमारी देवी और 29 बटालियन गया में पोस्टेड कमांडेंट परमजीत सिंह सलारिया को भी सम्मानित किया जायेगा। वहीं गृह मंत्रालय में कार्यरत डिप्टी सेंट्रल इंटेलिजेंस अफसर योगेंद्र कुमार को भी पुलिस पदक से अलंकृत किया जायेगा।

आपको बता दें कि पूरे देश में इस बार विशिष्‍ट सेवा के लिए 88 कर्मियों को राष्‍ट्रपति पुलिस पदक से सम्‍मानित किया जाएगा, जबकि 662 पुलिसकर्मियों को सराहनीय सेवा के लिए राष्‍ट्रपति पुलिस पदक दिया जाएगा।

भारत-तिब्‍बत सीमा पुलिस के 23 जवान भी देश की आजादी की 75वीं वर्षगांठ पर वीरता के लिए पुलिस पदक से सम्‍मानित होंगे। इनमें से 20 आईटीबीपी के ऐसे जवान हैं, जिन्‍होंने मई-जून 2020 में पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ हुई झड़प में अदम्‍य साहस और वीरता का परिचय दिया था।

साथ ही, अनुसंधान में उत्कृष्ट कार्य के लिए बिहार कैडर के पांच आईपीएस समेत सात पुलिस अफसरों को केंद्रीय गृह मंत्री पदक से सम्मानित किया गया है। इन अधिकारियों को ‘मेडल फॉर एक्सीलेंस इन इन्वेस्टिगेशन’ 2021 से नवाजा गया है। देशभर में कुल 152 पुलिस कर्मियों को यह सम्मान प्रदान किया गया है। इनमें 28 महिला पुलिस अधिकारी भी शामिल हैं।

गृह मंत्रालय द्वारा जारी पदक पानेवालों की सूची में पश्चिम चंपारण की तत्कालीन एसपी व वर्तमान में भागलपुर की एसएसपी निताशा गुड़िया, दरभंगा के एसएसपी बाबू राम, नवादा के तत्कालीन एसपी व वर्तमान में नालंदा के एसपी हरि प्रसाथ एस, नालंदा के तत्कालीन एसपी व वर्तमान में एसपी (ट्रेनिंग) एसटीएफ निलेश कुमार और दरभंगा के तत्कालीन सिटी एसपी व वर्तमान में मधेपुरा के एसपी योगेन्द्र कुमार शामिल हैं।

इन अफसरों के अलावा बेतिया जिला बल के इंस्पेक्टर उग्रनाथ झा और नवादा जिला बल के इंस्पेक्टर मो. नेयाज अहमद को भी अनुसंधान में उत्कृष्ट कार्य के लिए केन्द्रीय गृह मंत्री द्वारा पदक प्रदान किया गया है। आपराधिक कांडों को सुलझाने में उत्कृष्ट अनुसंधान के लिए केन्द्रीय गृह मंत्रालय द्वारा प्रत्येक वर्ष यह पदक दिया जाता है।