फुल वॉल्यूम 360° देश विज्ञान-अंतरिक्ष विदेश

Strawberry Moon : स्ट्रॉबेरी के साथ आसमान में दिखेगा Honey Moon

strawberry-moon
Spread It

पिछले दिनों लगे सूर्यग्रहण ने एक अनोखे नज़ारे का दीदार करवाया। 24 जून को फिर से स्काई वाचर्स को एक नई सौगात मिलने वाली है। आज ज्येष्ठ पूर्णिमा है। यह पूर्णिमा दो कारणों से काफी खास है क्योंकि यह एक स्ट्रॉबेरी मून और साथ ही साल का आखिरी सुपरमून भी है। दरससल, आज आसमान में चंद्रमा स्ट्रॉबेरी रंग में नजर आएगा। इस चाँद का नाम स्ट्रॉबेरी मून (Strawberry Moon) रखा गया है।

स्पेस एजेंसी नासा (NASA) ने इसके बारे में जानकारी देते हुए ट्वीटर पर ट्वीट करते हुए लिखा, “इस गुरुवार, साल के आखिरी सुपरमून का सुखद अंत होगा। यह एक स्ट्रॉबेरी मून है। इसे ‘स्ट्रॉबेरी मून’ कहा गया है क्योंकि यह स्ट्रॉबेरी और अन्य फलों की फसल को हार्वेस्ट करने के लिए एक समय का संकेत देता है।”

स्ट्रॉबेरी मून वसंत की आखिरी पूर्णिमा या गर्मियों की पहली पूर्णिमा का प्रतीक है। जून के अंत में, चंद्रमा आमतौर पर आकाश में निचले स्थान पर रहता है और हमारे अधिकांश वातावरण में चमकता है। इस वजह से, हमारा चंद्रमा कभी-कभी गुलाबी रंग का रंग देता है। इस दिन चांद आकार में बड़ा और थोड़ा-थोड़ा स्ट्राबेरी की तरह गुलाबी रंग का दिखाई देता है।

उत्तरी अमेरिका के एल्गोनक्विन (Algonquian) आदिवासियों ने इसका नाम स्ट्रॉबेरी मून रखा था। दरअसल, स्ट्रॉबेरी मून एक स्थानीय अमेरिकी नाम है। यह स्ट्रॉबेरी के लिए कटाई के मौसम की शुरुआत के साथ पूर्णिमा को चिन्हित करता है। यूरोप में स्ट्रॉबेरी मून को रोज मून (Rose Moon) कहते हैं, जो गुलाब फूल की कटाई का प्रतीक है। इसे हॉट मून (Hot Moon) या हनी मून (Honey Moon) भी कहते हैं।

स्ट्रॉबेरी मून रात के आकाश में एक दिन से अधिक समय तक दिखाई देगा, सामान्य चंद्रमा के विपरीत जो फुल फेज में एक दिन तक रहता है। स्ट्रॉबेरी मून भारत में 24 जून की आधी रात यानी 25 जून को 12:10 a.m. IST से दिखाई देगा। यह लगभग तीन दिनों तक दिखाई देगा। सुपरमून साल में केवल तीन से चार बार होता है, और हमेशा लगातार दिखाई देता है। पिछले तीन सुपरमून 26 मई, 27 अप्रैल और 28 मार्च को हुए थे।