खेल फुल वॉल्यूम 360°

Golden Boy Neeraj Chopra को करोड़ो के साथ मिले ये खास उपहार

NIRAJ-CHOPRA
Tokyo olympic Neeraj Chopra wins gold in athletics
Spread It

कालरात्रि से घबराकर, ऊषा जय मुकुट नहीं लाती
कोई पीढ़ी सोते रहने से, अपना लक्ष्य नहीं पाती।
हम बढ़े हमेशा कठिन डगर, अँधियारा चाहे छाया है,
हमने तो संघर्षों से ही लक्ष्य-शिखर को पाया है।

टोक्यो (Tokyo) में हुए ओलम्पिक (Olympic) में आख़िरकार भारत का गोल्ड पाने का सपना पूरा हो ही गया। भारतीय एथलीट नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) ने ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर देशवासियों को कभी ना भूलने वाला गौरव का क्षण दिया है। भाला फेंक एथलीट नीरज ने अपने लक्ष्य की प्राप्ति की और हर भारतीय के आँखों में ख़ुशी के आंसू ला दिए। इस जीत के लिए नीरज चोपड़ा ने काफी मेहनत की थी और अब उनकी यह मेहनत, जहां उनके लिए ख्याति लाई है, तो साथ ही धन वर्षा भी लेकर आई है। जी हाँ, टोक्यो ओलंपिक में जीत के बाद नीरज पर इनामों की बारिश हो रही है।


टोक्यो ओलंपिक में जेवेलीन थ्रो (Javelin Throw) में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने वाले भारतीय थ्रोअर नीरज चोपड़ा पर इनामों की बारिश हो रही है। पानीपत के इस स्टार खिलाड़ी को भारतीय ओलंपिक संघ (Indian Olympic Association) ने 75 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। वहीं हरियाणा सरकार ने नीरज चोपड़ा (Neeraj Chopra) को 6 करोड़ रुपए नगद, क्लास वन की सरकारी नौकरी, 50 फीसदी दर पर रियायती जमीन देने का ऐलान किया है। इसके साथ ही नीरज के शहर पंचकूल में सरकार ने एथलेटिक्स सेंटर ऑफ एक्सीलेंस (Athletics Center of Excellence) बनाने का भी ऐलान किया है, जिसका प्रमुख भी नीरज चोपड़ा को ही बनाया जाएगा।


नीरज को दिए जाने वाले इनामों की बारिश यहीं ख़त्म नहीं होती है। पंजाब सरकार ने नीरज चोपड़ा को 2 करोड़ रुपए का नगद इनाम देने का ऐलान किया है। तो वहीं रेलवे ने 3 करोड़ और मणिपुर सरकार ने 1 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया है।


इसके अलावा बीसीसीआई (BCCI) ने भी नीरज चोपड़ा को ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतने पर एक करोड़ रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। इसके साथ ही आईपीएल की चैंपियन फ्रेंचाइजी चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) ने एक करोड़ रुपये की बड़ी इनामी राशि देने की घोषणा की है। टोक्यो ओलंपिक में जीत हासिल करने के बाद नीरज के ऊपर सिर्फ पैसों के रूप में ही नहीं इनामों की बारिश हुई है बल्कि उन्हें असंख्य लोगों का प्यार और आशीर्वाद भी मिला है। नीरज की आउटस्टैंडिंग परफॉरमेंस के कारण महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा (Anand Mahindra) ने XUV 700 नीरज को गिफ्ट देने की बात कही है तो वहीं इंडिगो एयरलाइंस (Indigo Airlines) ने नीरज चोपड़ा को एक साल के लिए फ्री टिकट देने की बात कही है।


नीरज के सम्मान में सीएसके ने 8758 नंबर की एक विशेष जर्सी भी बनाने का एलान किया है। यह नंबर बेहद ही खास है क्योंकि भारत के इस एथलीट ने टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में 87.58 मीटर का विशाल जैवलीन थ्रो करते हुए गोल्ड मेडल पर अपना कब्जा किया था। भारत के जालंधर, पंजाब के टॉप यूनिवर्सिटी Lovely Professional University से वर्तमान में अपनी पढ़ाई को कंटिन्यू रखने वाले इस गोल्डन बॉय की एथलीट बनने की कहानी काफी दिलचस्प है।


सोनीपत, हरियाणा के रहने वाले 23 वर्षिय आर्मी ऑफिसर नीरज का मेडल से रिश्ता काफी पुराना है। बचपन से ही नीरज जेवेलीन थ्रो के चैंपियनशिप में गोल्ड-सिल्वर जीतते आ रहे हैं। नीरज ने 2016 में South Asian Games में Gold medal जीता था। तब से नीरज का जो गोल्ड मेडल का सफर शुरू हुआ वो अभी भी जारी है। टोक्यो ओलंपिक में नीरज, भारत की ओर से गोल्ड के मजबूत दावेदार थे और उन्होंने सभी की उम्मीदों पर खरा उतरते हुए भारत की झोली में 7वें मेडल के रूप में गोल्ड डालते हुए देशवासियों का सीना गर्व से चौड़ा कर दिया है।


नीरज बचपन में खाने के बहुत शौकीन थे। महज 13 साल की उम्र में ही उनका वजन 80 किलो तक पहुंच गया था। इस कारण लोग उनका मजाक उड़ाते थे। अपना वजन कम करने के लिए नीरज ने दौड़ना शुरू किया और इसी दौरान उन्हें जेवेलीन थ्रो के साथी मिले। नीरज ने भी उसमें अपना हाथ आजमाया। पहली बार में ही नीरज का प्रदर्शन अच्छा रहा और फिर जेवेलीन के लिये उनका पैशन बढ़ता चला गया। भाला फेंक एथलीट नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक में स्वर्ण पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। वह देश के लिए व्यक्तिगत स्वर्ण जीतने वाले दूसरे खिलाड़ी और पहले एथलीट बन गए हैं। नीरज आज हर भारतीय के लिए एक प्रेरणा हैं, जिसने अपनी मेहनत से ये गौरवपूर्ण क्षण लाया है।