फुल वॉल्यूम 360° खेल

Smriti Mandhana ने रचा इतिहास, की विराट कोहली की बराबरी

Smriti-Mandhana
Spread It

भारतीय महिला क्रिकेट टीम (Indian Women’s Cricket Team) की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (Smriti Mandhana) ने इतिहास रच दिया है। 1 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ डे-नाइट टेस्ट के दूसरे दिन मंधाना ने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक लगाया है। उन्होंने डे-नाइट टेस्ट में शतक जड़ने का कारनामा किया है। मंधाना एलिसे पैरी की गेंद पर चौका जड़कर अपना शतक पूरा किया। पिंक बॉल टेस्ट में शतक लगाने वाली वो पहली भारतीय महिला बल्लेबाज़ और दूसरी भारतीय बन गयी हैं। इससे पहले भारतीय पुरुष टीम के कप्तान विराट कोहली (Virat Kohli) ने 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ डे-नाईट टेस्ट में शतक (136 रन) लगाया था।

टेस्ट मैच के पहले दिन मंधाना ने विस्फोटक बल्लेबाजी करते हुए सिर्फ 51 गेंदों में 11 चौकों की मदद से अर्धशतक जड़ा था। मंधना ने डार्सी ब्राउन के एक ही ओवर की गेंद पर चार चौके मारे थे। मंधाना ने पहले विकेट के लिए शेफाली वर्मा के साथ 93 रन जोड़े थे। शेफाली 31 के स्कोर पर सोफी मोलिनू की गेंद पर ताहलिया मैक्ग्रा को कैच थमा बैठी थीं।

भारतीय टीम ने कल के एक विकेट पर 132 रनों के स्कोर से आगे खेलना शुरू किया। पहले दिन 80 रनों के स्कोर पर नाबाद लौटने वाली मंधाना ने एलिस पैरी के ओवर की गेंद पर चौका जड़कर शानदार अंदाज में अपना शतक पूरा किया। इस ऐतहासिक शतक तक पहुंचने के लिए मंधाना ने 170 गेंदों का सामना करते हुए 18 चौके और एक छक्का जड़ा। आख़िरकार मंधना ने 216 गेंदें खेल कर 22 चौके और 1 छक्के की मदद से 127 रन जोड़े और गार्डनर की गेंद पर पवेलियन लौट गयी।

बता दें, स्मृति मंधाना महिला टेस्ट मैचों में शतक जड़ने वाली ओवरऑल नौवीं भारतीय बल्लेबाज हैं। संध्या अग्रवाल ने सबसे ज्यादा चार शतक जड़े और हेमलता काला ने दो शतक लगाए हैं। इसके अलावा शांता रंगास्वामी, शुभांगी कुलकर्णी, अंजू जैन, मिताली राज, थिरुष कामिनी, पूनम राउत और स्मृति मंधाना के नाम पर एक-एक शतक दर्ज हैं।

डेब्यू मैच में जमाया था शतक

केवल 18 साल की उम्र में डेब्यू करने वाली मंधाना ने अपने पहले टेस्ट मैच में भी अर्धशतक जड़ा था। उन्होंने यह कारनामा साल 2014 में इंग्लैंड के खिलाफ किया था। इस टेस्ट के 7 साल बाद भारतीय महिला टीम ने इंग्लैंड में लाल गेंद से क्रिकेट खेला था। यह मुकाबला तीन महीने पहले इंग्लैंड के ब्रिस्टल मैदान पर खेला गया जिसमें मंधाना ने शानदार 78 रनों की पारी खेली थी। यह मैच ड्रॉ रहा था।

वैसे कप्तान मिताली राज महिला टेस्ट मैचों में सबसे बड़ी पारी खेलने वाली भारतीय बल्लेबाज हैं। मिताली ने 2002 में टॉन्टन में इंग्लैंड के खिलाफ 214 रनों की शानदार पारी खेली थी। मिताली ने उस पारी के दौरान महिला टेस्ट मैचों में केरन रोल्टन के 204 रनों का भी रिकॉर्ड तोड़ दिया था। बाद में 2004 में पाकिस्तानी बल्लेबाज किरन बलोच ने 242 रन बना कर मिताली के 214 रनों के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया था।

एकदिवसीय और टी20 क्रिकेट में भी करती हैं विस्फोटक बल्लेबाजी

25 वर्षीय मंधाना वनडे और टी20 क्रिकेट में विस्फोटक बल्लेबाजी के लिए जानी जाती हैं। स्मृति ने 62 वनडे मैचों में करीब 42 की औसत से अब तक 2377 रन बनाए हैं। अभी तक एकदिवसीय क्रिकेट में उन्होंने 4 शतक और 19 अर्धशतक जड़ा है। टी20 क्रिकेट में स्मृति ने 81 मैचों में 13 अर्धशतक की बदौलत 1901 रन बनाए हैं। उनका स्ट्राइक रेट 121 का है।