फुल वॉल्यूम 360° विदेश

महिलायों के हक में ऐसा काम करने वाला पहला देश

scotland period free state
Spread It

आज भले हम लड़कियाँ लड़कों से साथ कंधे से कन्धा मिला कर चल रहे हैं लेकिन कहीं न कहीं हम लड़कियों को हर मोड़ पर लड़की बता कर पीछे खिंचा जाता है। अगर लड़कियों के लिए बस में या मेट्रो में सीट रिज़र्व हो तो हमारे समाज के कुछ लोग हमें फेमिनिस्ट का टैग दे देते हैं। लेकिन ये नहीं सोचते की जब उनके शरीर से पसीना गिरता है तो उनको भी राहत चाहिए होता है। लेकिन ये नहीं सोचते की हम लड़कियों के शरीर से हर महीने पसीने की तरह जब खून निकलता है तब कमर दर्द और पेट दर्द और न जाने किस किस तरह से दर्द सहना पड़ता है, और बात करते है फेमिनिस्ट होने का।

भारत से 7,692 km दूर स्कॉटलैंड में महिलाओं में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी है। जी हाँ, जहाँ हमारे देश में लोग पीरियड के मुद्दे पे बात करने पर चुप्पी साधते हैं वहीं स्कॉटलैंड सरकार ने पीरियड प्रोडक्ट को पुरे देश में फ्री कर दिया है। स्कॉटलैंड के पार्लियामेंट ने 24 नवंबर को इस बिल को पास किया जिसमे पुरे देश में पीरियड प्रोडक्ट्स को फ्री कर दिया है। सैनिटरी पैड और टेम्पोंस जैसे पीरियड प्रोडक्ट्स को फ्री करने वाला पहला देश है बन गया है स्कॉटलैंड।

इस बिल को संसद सदस्य मोनिका लेनन ने पेश किया, जो 2016 से पीरियड्स पॉवर्टी को समाप्त करने के लिए देश में अभियान चला रही हैं। लेनन ने कहा कि यह फैसला उन महिलाओं और लड़कियों के जीवन में बदलाव लाएगा जिन्हें पीरियड होते हैं। अब हर किसी को सम्मान मिल सकेगा। लेनन का कहना है कि सार्वजनिक जीवन में पीरियड्स पर चर्चा हो रही है, यह एक बड़ा बदलाव है। अब यह विषय मुख्यधारा में है। इस कानून के तरह पीरियड्स से संबंधित प्रोडक्ट्स को सामुदायिक केंद्रों, युवा क्लबों, शौचालयों और फार्मेसियों में भी रखा जाएगा। महिलाओं और युवतियों के लिए तय जगहों पर टैम्पॉन और सेनेटरी पैड उपलब्ध कराए जाएंगे जो महिलाओं को फ्री में मिल सकेंगे।

देश में लोगों को जागरूक करने के लिए बॉलीवुड के सुपरस्टार अक्षय कुमार ने पैडमैन नाम की फिल्म ले कर आये। लेकिन आज भी जब पैड दुकानों पर खरीदने जाये तो पैड को पेपर में लपेट कर ब्लैक प्लास्टिक में दाल कर देते हैं। पीरियड प्राकृतिक देय है जो महिलाओं को होता है, जिसके कारण ही वो माँ बनने के योग होती है या यूँ कह सकते हैं की सृष्टि का संचालन होता है। सरकार हो या सेलिब्रिटी सब पीरियड को ले कर जागरूकता फैला रहे है। लेकिन आज भी कहीं न कहीं इस जागरूकता अभियन में किसी चीज़ की कमी है जिससे लोगों में आज भी पीरियड को ले कर चुप्पी है।