फुल वॉल्यूम 360° चर्चित व्यक्ति देश विदेश

Satya Nadella : यह भारतीय बना माइक्रोसॉफ्ट का नया चेयरमैन

Satya-Nadella
Spread It

विश्व की सबसे बड़ी सॉफ़्टवेयर कम्पनी माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने एक भारतीय मूल के वंशज को अपना चेयरमैन बनाया है। माइक्रोसॉफ्ट कॉर्प ने अपने चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर सत्या नडेला (Satya Nadella) को अपना नया चेयरमैन घोषित किया है। नडेला ने जॉन थॉम्पसन (John Thompson) की जगह ली, जो लीड इंडिपेंडेंट डायरेक्टर की भूमिका में लौटेंगे।

कंपनी के तीसरे सीईओ नडेला, गेट्स और थॉम्पसन के बाद माइक्रोसॉफ्ट के इतिहास में तीसरे चेयरमैन होंगे। थॉम्पसन ने 2014 में इस सॉफ्टवेयर दिग्गज के सह-संस्थापक बिल गेट्स के चेयरमैन (Bill Gates) के बाद, इस कंपनी के चेयरमैन बने थे। बिल गेट्स अब कंपनी के बोर्ड में नहीं हैं और वह बिल एवं मेलिंडा गेट्स के परोपकारी कार्यों पर ध्यान दे रहे हैं।

नडेला के नेतृत्व के दौरान माइक्रोसॉफ्ट का एक तरह से पुनर्जन्म हुआ है, मोबाइल फोन और इंटरनेट खोज बाजार में विफलताओं से उबरने के साथ-साथ इसके प्रमुख विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम के महत्व में कमी आई है। नडेला ने कंपनी को क्लाउड कंप्यूटिंग, मोबाइल एप्लिकेशन और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर फिर से ध्यान केंद्रित किया है, जबकि ऑफिस सॉफ्टवेयर फ्रैंचाइज़ी में नई जान डालते हुए इसे क्लाउड और अन्य ऑपरेटिंग सिस्टम में शिफ्ट कर दिया है।

सत्या नडेला साल 2014 में माइक्रोसॉफ्ट के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर बने थे। सत्या, इसके साथ ही LinkedIn, Nuance Communications और ZeniMax जैसी कंपनियों में एक अहम भूमिका निभा चुके है। सत्या नारायण नडेला का जन्म साल 1967 में भारत के हैदराबाद में हुआ था। उन्होंने वर्ष 1988 में कर्नाटक के मणिपाल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी से इलेक्ट्रिकल इंजिनियरिंग में बीटेक किया।