फुल वॉल्यूम 360° देश योजना-परियोजना

Sardardham Bhavan : सरकार दे रही ग्रामीण इलाकों के स्टूडेंट्स को कम्पटीशन की तैयारी का एक मौका

sardardham
Spread It

आज का दौर कम्पटीशन का दौर है। ज़िन्दगी की इस रेस में, हर कोई आगे निकलना चाहता है और सफल होना चाहता है। आज लड़कियाँ भी लड़कों को कड़ा टक्कर दे रहीं हैं। हम हर गली, मोहल्ले में कई कोचिंग खुले हुए देखते हैं, जो बच्चों के उज्जवल भविष्य के लिए तैयारी करवाता है। मगर आज भी ग्रामीण इलाकों में रहने वाले होनहार स्टूडेंट्स, एक अच्छे प्लेटफार्म से वंचित रह जाते हैं, जिसके कारण कहीं न कहीं उनका टैलेंट दुनिया के सामने नहीं आ पता है। गुजरात के अहमदाबाद में अत्‍याधुनिक सरदारधाम भवन (Sardardham Bhavan) का उद्घाटन किया गया है। इस भवन की खास बात ये है की यह भवन प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने वाले ग्रामीण इलाकों की लड़कियों और लड़कों को छात्रावास की सुविधा मुहैया कराएगा।

पाटीदार समाज की ओर से विकसित इस सरदारधाम भवन का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से किया। इसके साथ ही उन्होंने सरदारधाम फेज-2 कन्या छात्रावास का भूमिपूजन भी किया। अहमदाबाद में भवन के पहले फेज का काम 200 करोड़ रुपए की लागत से पूरा हुआ है। यह भवन अहमदाबाद-गांधीनगर सीमा क्षेत्र में वैष्णोदेवी सर्कल के पास 11,672 वर्ग फुट में बनाया गया है।

सरदारधाम एजुकेशनल और सामाजिक बदलाव, समाज के कमजोर वर्गों के उत्थान और युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराने की दिशा में काम कर रहा है। यह भवन बेहतर नौकरी की इच्छा रखने वाले ग्रामीण क्षेत्रों के लड़कियों और लड़कों को छात्रावास की सुविधा मुहैया करवाएगा।

अगर इस भवन की खासियत की बारे में बात करें तो इस सरदारधाम में 1,600 स्टूडेंट्स के लिए आवासीय सुविधाएं, 1 हजार कंप्यूटर सिस्टम, ई-लाइब्रेरी, हाई-टेक क्लासरूम, जिम, ऑडिटोरियम, 50 लग्जरी कमरों के साथ रेस्ट हाउस और पॉलटिकल मीटिंग्स के लिए सुविधाएं हैं।

इस कॉम्प्लेक्स के परिसर में आधुनिक सुविधाओं के साथ छात्रों के लिए अत्याधुनिक सुविधाएं शामिल हैं। इस भवन में 1 हजार स्टूडेंट्स की क्षमता वाली लाइब्रेरी, 450 सीटिंग कैपेसिटी का ऑडिटोरियम, 1 हजार लोगों को क्षमता के दो मल्टीपर्पज हॉल, इनडोर गेम और दूसरी सुविधाएं हैं। इसके साथ ही भवन के सामने सरदार वल्लभभाई पटेल की 50 फीट ऊंची ब्रॉन्ज की मूर्ति स्थापित है। सरदारधाम परियोजना के दूसरे चरण के अंतर्गत अब यहां 2,000 छात्राओं के लिए छात्रावास का निर्माण किया जाएगा।

इस सरदारधाम भवन से मिलने वाली सुविधाएँ, ग्रामीण इलाकों के स्टूडेंट्स के लिए किसी सौगात से कम नहीं है और यह सौगात युवाओं को ग्लोबल प्लेटफॉर्म से जोड़ने के लिए भरपूर प्रयास भी करेगी।