फुल वॉल्यूम 360° देश महिला

Naina Singh Dhakad : एवरेस्ट फतह करने वाली इस राज्य की पहली महिला

naina-singh-dhakad
Spread It

हमारे देश की बेटियों ने हमेशा हमारे देश का नाम रोशन किया है। चाहे अंतरिक्ष में जाना हो या फिर ज़मीन पर दुश्मनों से लड़ना हो, वे हमेशा अपने कर्तव्यों को पूरा करती हैं। इसी के साथ छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) की एक बेटी ने बड़ा कारनामा किया है। उन्होंने एक बड़ी उपलब्धि हासिल की है। छत्तीसगढ़ के बस्तर की बेटी नैना सिंह धाकड़ (Naina Singh Dhakad) ने दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी एवरेस्ट को फतह कर ली है।

उन्होंने विश्व की सबसे ऊंची चोटी Mount Everest (8848.86 मीटर) और Mount Lhotse (8516 मीटर) को फतह किया है। यह उपलब्धि हासिल करने वाली नैना छत्तीसगढ़ राज्य की पहली महिला बन गई हैं। इस अभियान में नैना चोटिल भी हुईं। यह अभियान 60 दिनों का था। अत्यधिक थकान के कारण बीमार होने के बावजूद उन्होंने हिम्मत नहीं हारी।

नैना सिंह धाकड़ (Naina Singh Dhakad) की इस उपलब्धि के लिए मुख्यमंत्री Bhupesh Baghel ने सराहना करते हुए ट्वीटर पर ट्वीट किया, “छत्तीसगढ़ की गौरव, बस्तर की बेटी पर्वतारोही नैना सिंह धाकड़ द्वारा विश्व की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट फतह करने पर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं। मैं नैना के उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ। नैना ने अपने दृढ़ संकल्प, इच्छाशक्ति तथा अदम्य साहस से यह कर दिखाया है।”

नैना ने एवरेस्ट पर तिरंगा फहरा और इस दौरान उन्होंने सबसे ऊंची पर्वत चोटी से दुनिया को “बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ” का संदेश भी दिया। उनका चयन इस साल माउंट एवरेस्ट की चढ़ाई करने वाले पर्वतारोहियों के दल में किया गया था। उनके इस अभियान के लिए जिला प्रशासन और एनएमडीसी ने मदद की थी। नैना सिंह करीब 10 साल से पर्वतारोहण में सक्रिय हैं।

नैना सिंह धाकड़ एक्टागुड़ा में जन्मी और पली-बढ़ी हैं। उनके पिता बचपन में ही गुजर गए थे। उनकी माँ ने पेंशन की राशि से परिवार का भरण पोषण किया और बच्चों को शिक्षा दिलाई। नैना ने स्नातक की पढ़ाई करने के बाद 2009 में पर्वतारोहण के क्षेत्र में जाने का फैसला किया था।