फुल वॉल्यूम 360° खेल फुल वॉल्यूम कॉर्नर बिहारनामा

करोड़ों के मेकअप के बाद कुछ ऐसा दिखेगा Moin-ul-Haq Stadium

Moin ul Haq Patna Bihar
Spread It

आपको भले पता हो या ना हो कि कौन सी बॉल NO Ball है लेकिन हर गली मौहले के सचिन, विराट, ईशान को क्रिकेट की हर बारीकियां पता होती है। लेकिन बिहार में उम्र के साथ-साथ इनकी बैट-बॉल से दुरी बढ़ती जाती है। क्यूंकि बिहार में क्रिकेट शिक्षा का आधार नहीं दिखता। जिसका जीता जागता उदाहरण खुद बिहार के ईशान किशन हैं। बिहार के होने के बावजूद भी ईशान को रांची में जा कर अपने क्रिकेट प्रेम को निखारना पड़ा। लेकिन अब बिहार के बच्चों का भविष्य क्रिकेट के पिच पर दना दन चौके और छक्के लगते दिखेगा। इसके लिए बिहार सरकार राजधानी के Moin-ul-Haq Stadium को इंटरनेशनल स्टेडियम के रूप में डेवलप करने जा रही है।

कई अरसो से बदहाली के दौर से गुजर रहे राजधानी पटना के Moin-ul-Haq Stadium पर अब सरकार का ध्यान गया है। Nitish Kumar की सरकार मोइनुल हक स्टेडियम (Moin-ul-Haq Stadium) को 400 करोड़ की लागत से इंटरनेशनल स्टेडियम के रूप में डेवलप करने जा रही है। इस डेवलपमेन्ट के तहत कैंपस में ही 5 Star होटल भी बनेगा। खिलाड़ियों की प्रैक्टिस के लिए ग्राउंड पर 9 पिच बनाए जाएंगे। साथ ही पवेलियन को इंटरनेशनल लेवल के तर्ज पर बनाया जाएगा।

स्टेडियम के नवनिर्माण से जुड़े आर्किटेक्ट ने अपने प्रस्तुतीकरण में PPR, Map और Estimate की पूरी जानकारी दे दी है। यहां वर्ल्ड क्लास इंटरनेशनल स्टेडियम बनाने को लेकर डिजायन तैयार किया गया है। इसमें क्रिकेट के साथ-साथ 10 अन्य खेलों के आयोजन की सुविधा होगी। साथ ही वर्ल्ड क्लास ड्रेनेज सिस्टम होगा। बेहतर पार्किंग की व्यवस्था, रेस्टोरेंट और होटल के साथ-साथ अन्य सुविधाओं को भी विकसित किया जायेगा। जिसमें ग्राउंड बलुआही मिट्टी पर डेवलप होगा। फील्ड में ऐसी घास लगाई जाएगी, जो हमेशा हरी रहे। इस स्टेडियम के डेवलपमेन्ट को लेकर क्रिकेटर गौतम गंभीर से लेकर कई और जानकार लोगों से सुझाव लिए गए हैं।

बिहार में क्रिकेट के लिए बने इस इकलाैते स्टेडियम की मेन बिल्डिंग, Audience Gallery, साइड स्क्रीन, पवेलियन, खिलाड़ियों के ड्रेसिंग रूम समेत सबकुछ बेकार हो चुका है। Audience Gallery की Gallery कब गिर जाएगी, कहना मुश्किल है। लेकिन, ग्राउंड ठीक रहने के कारण यहां अक्सर मैच होते रहते हैं। विश्व कप समेत पांच अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच, एशियन स्कूली फुटबाल चैंपियनशिप का यह स्टेडियम गवाह रह चुका है। कोरोना काल में ग्राउंड झाड़ में तब्दील हो गया था। लॉकडाउन खत्म हुआ, तो Bihar Cricket Association ने स्टेडियम को मार्च तक के लिए एलॉट करा लिया। अब स्टेडियम के साथ साथ पुरे ग्राउंड की सफाई हो रही। BCA के कार्यकारी सचिव कुमार अरविंद ने बताया कि बिहार राज्य खेल प्राधिकरण काे 2.60 लाख चुका कर मार्च तक के लिए स्टेडियम की बुकिंग कराई गई है। स्टेडियम को आखिरी बार संवारने में वह कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते, क्योंकि अगले साल इसे तोड़कर, यहां बहुउद्देशीय अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम की नींव रखी जाएगी। जिसके बाद बिहार के सचिन, विराट, धौनी और ईशान बनने का सपना देखने वाले क्रिकेटरों की उम्मीदें परवान चढ़ेंगी।

इस स्टेडियम को विकसित करने की योजना पिछले 6 सालों से चल रही है। नए प्लान के मुताबिक़ स्टेडियम की लंबाई-चौड़ाई भी बढ़ाई जा सकती है। यहां Hockey, Football, Volleyball, Lawn Tennis, Athletics जैसे कई Tournaments के आयोजन और प्रैक्टिस की व्यवस्था भी हाेगी। इसे multipurpose ground के साथ अंतरराष्ट्रीय मानक के अनुसार डेवलप किया जाएगा।

बहुउद्देशीय अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम बनने के बाद Moin-ul-Haq Stadium को IPL और अंतरराष्ट्रीय मैचों की मेजबानी मिलेगी। लेकिन उससे पहले इसे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद यानी ICC और BCCI के मापदंड पर खरा उतरना होगा। इसमें सुरक्षा, आवागमन और मैदान में सुविधा शामिल रहेगी। क्रिकेट के साथ स्टेडियम परिसर में 9 और खेलों के मैदान बनने से बिहार को नियमित रूप से राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं की मेजबानी मिलेगी। जिसके बाद बिहार में नेशनल गेम्स की मेजबानी का सपना भी पूरा होगा।

वर्तमान में मोइनुल हक स्टेडियम में 25 हजार ऑडियंस के बैठने की क्षमता है। खेल दिवस के पहले मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से इसके वनवास को खत्म कर बहुउद्देशीय अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम (Multipurpose International Stadium) बनाने के लिए हरी झंडी दिखा दी है। और अब बिहार में अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम के निर्माण और मैच दोनों का इंतजार है।