फुल वॉल्यूम 360° देश

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा 2025 तक देश में बनेंगे 1000 नए Air Route

jyotiraditya-scindia
Spread It

2020 में आई फ़िल्म “सुरराई पोट्रू” जिसका हिन्दी नाम था “उड़ान” की कहानी से मिलता जुलता कुछ देश में होने जा रहा है। हम बात फ़िल्म की ट्रेजडी की नहीं कर रहे उस के उद्देश्य की कर रहे। जहां हीरो का एक ही सपना होता है सस्ती फ्लाइट्स ताकी कम पैसे वाले लोग भी हवाई यात्रा का लुफ्त ले सकें। कमोबेश इसी तरह का कुछ भारत में करने की योजना सरकार द्वारा बनाई जा रही है।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री (Minister of Civil Aviation) ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा है कि देश में वर्ष 2025 तक 1,000 नए ‘एयर रूट’ और 100 नए हवाईअड्डे तैयार किए जाएंगे। इसका मुख्य उद्देश्य छोटे शहरों में भी हवाई यातायात सेवाएं मुहैया कराना है, ताकि आम व्यक्ति भी विमानों में सफर कर सकें। केन्द्रीय मंत्री ने यह बात इंदौर में गुरुवार, 19 अगस्त को जन आशीर्वाद यात्रा शुरू होने से पहले मीडिया से बातचीत के दौरान कही।

केन्द्रीय मंत्री सिंधिया ने मीडिया से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री ने समस्त केंद्रीय मंत्रियों को आदेश दिए थे कि वह अपने क्षेत्रों में जन आशीर्वाद यात्रा निकालकर जनता की समस्या से रूबरू हों और उनका समाधान करें। इसके आगे उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश में 67 नई फ्लाइट्स शुरू की जा रहीं हैं। वहीं भोपाल, इंदौर और ग्वालियर एयरपोर्ट को अत्याधुनिक करना प्राथमिकता में शामिल है।

पिछले सात साल में पीएम मोदी के कार्यकाल में बने 61 नए हवाईअड्डे

केंद्रीय मंत्री ने यह भी कहा कि देश में 70 साल में जहां मात्र 75 हवाईअड्डे बने थे, वहीं पिछले सात साल में मोदी सरकार के कार्यकाल में 61 नए हवाईअड्डे बने हैं। हमने लक्ष्य तय किया है कि देश में वर्ष 2025 तक 1,000 नए ‘एयर रूट’ और 100 नए हवाईअड्डे तैयार किए जाएं। इसके तहत अब तक 363 नए एयर रूट और 59 हवाईअड्डे बन चुके हैं। उन्होंने कहा कि भविष्य में विमानन क्षेत्र में अपार संभावनाएं हैं।

देश में हवाई चप्पल पहनने वाला भी करेगा हवाई यात्रा, ऐसा है लक्ष्य

मोदी सरकार का लक्ष्य है कि देश में हवाई चप्पल पहनने वाला व्यक्ति भी हवाई यात्रा कर सके, इसलिए ‘उड़ान’ योजना प्रारंभ की गयी है। उन्होंने कहा कि भविष्य भी इसी क्षेत्र में है। केन्द्रीय मंत्री से जब पूछा गया कि क्या मौजूदा वित्त वर्ष में एयर इंडिया के विनिवेश की प्रक्रिया पूरी हो जाएगी तो उन्होंने कहा कि एयर इंडिया के विनिवेश के संबंध में 15 सितंबर तक ‘फायनेंशियल बिड’ (वित्तीय निविदाएं) आमंत्रित की गई हैं और उसके बाद अगला कदम निर्धारित किया जाएगा। उन्होंने कोरोना काल के कारण पूरे विश्व में विमानन के क्षेत्र में आई मंदी का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले एक माह से स्थितियों में सुधार नजर आ रहा है। अब यात्री विमान यात्राओं का लाभ ले रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि शीघ्र ही देश में भी विमानन का क्षेत्र सामान्य हो जाएगा।