खोज-आविष्कार देश फुल वॉल्यूम 360° हेल्थ

माइक और स्पीकर के साथ आया ये अनोखा मास्क

Mask
Spread It

आवश्यकता ही आविष्कार की जननी होती है। अपने अनोखे आविष्कार के लिए कई बार लोग बेहद मशहूर हो जाते हैं। वैसे भी इस कोरोना वायरस महामारी ने हमें बहुत कुछ सिखाया है। इस कोविड -19 महामारी के कारण मास्क हमारे जीवन का एक अभिन्न अंग बन गया है। केरल के थ्रिसूर जिले में बीटेक फर्स्ट ईयर के स्टूडेंट Kevin Jacob ने एक अनोखा मास्क बनाया है, जिसमें एक माइक और एक स्पीकर लगा हुआ है।

Thrissur Government Engineering कॉलेज के केविन जैकब ने एक ऐसा मास्क डिजाइन किया है जो विशेष रूप से डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए उपयोगी हो सकता है। इस मास्क की मदद से न तो सांस लेने में दिक्कत आएगी, न ही बोलने में परेशानी होगी। मास्क पर लगे इस गैजेट को तीस मिनट के चार्ज पर लगातार चार से छह घंटे तक इस्तेमाल किया जा सकता है। यह चुंबक का उपयोग करके मास्क से जुड़ा हुआ है।

केविन ने बताया की उन्हें में यह मास्क बनाने का विचार कैसे आया। उन्होंने कहा, “मेरे माता-पिता डॉक्टर हैं और महामारी की शुरुआत से ही वे अपने मरीजों के साथ संवाद करने के लिए संघर्ष कर रहे हैं। उन्हें मास्क और फेस शील्ड की कई परतों के माध्यम से खुद को स्पष्ट करना बहुत मुश्किल लगा। उन्हें देखकर मेरे मन में यह आइडिया आया।”

केविन ने सबसे पहले अपने माता-पिता, Dr Senoj KC और Dr Jyoti Mary Jose के साथ प्रोटोटाइप का परीक्षण किया। मांग बढ़ने पर उन्होंने बड़ी मात्रा में इस प्रोडक्ट का उत्पादन शुरू कर दिया। उन्होंने अब तक 50 से अधिक ऐसे उपकरण बनाए हैं जिनका उपयोग पूरे दक्षिण भारत में डॉक्टर कर रहे हैं। उनके पास फ़िलहाल इस प्रोजेक्ट का बड़े पैमाने पर उत्पादन करने के लिए पूंजी या उपकरण नहीं है। लेकिन अगर कोई व्यक्ति या कोई बड़ी कंपनी इस छोटे से प्रोजेक्ट में उनकी मदद करने को तैयार होगा, तो इससे बहुत से लोगों को मदद मिल सकती है।