देश फुल वॉल्यूम 360°

यहां बनने जा रहा है देश का सबसे बड़ा सोलर पॉवर प्लांट

floating-solar-power-plant
Spread It

तेलंगाना, भारत के सबसे बड़े अस्थायी सोलर पॉवर प्लांट को विकसित करने के लिए तैयार है। भारत का अब तक का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर प्लांट तेलंगाना के रामागुंडम में विकसित किया जा रहा है। यह सोलर प्लांट 100 मेगावाट की क्षमता वाला होगा। इस सोलर प्रोजेक्ट्स में लगभग 423 करोड़ रुपये की लागत में 4.5 लाख फोटोवोल्टिक पैनल होंगे। यह सौर पैनल, जलाशय के 450 एकड़ क्षेत्र को कवर करेंगे ताकि भविष्य में इसका विस्तार किया जा सके।

यह ऊर्जा समूह National Thermal Power Corporation (NTPC) द्वारा विकसित किए जा रहे सोलर प्लांट्स में से एक है। NTPC की चल रही इस सोलर पॉवर प्रोजेक्ट्स को स्थापित करने के प्रयासों का उद्देश्य इसके कार्बन फूटप्रिंट्स को कम करना और इसकी एनर्जी का उत्पादन 30 प्रतिशत तक बढ़ाना है। NTPC इन फ्लोटिंग सोलर यूनिट्स को स्थापित करने के लिए जल निकायों और विशाल जलाशयों का उपयोग कर रहा है, क्योंकि इसके लिए जमीन पर चढ़ने वाले प्लांट के लिए भारी खर्च की आवश्यकता होती है।

NTPC लगभग 450 मेगावाट सौर ऊर्जा क्षमता स्थापित करने की प्रक्रिया में है, जिसमें से 2022 तक तमिलनाडु में तूतीकोरिन के पास एट्टायपुरम में 230 मेगावाट क्षमता का सोलर पॉवर प्लांट स्थापित किया जाएगा। इस वर्ष चालू होने वाले अन्य रिन्यूएबल एनर्जी प्लांट्स में, केरल में कायाकुलम गैस प्लांट में 92 मेगावाट की फ्लोटिंग यूनिट और सिमहादरी पावर प्लांट में 25 मेगावाट यूनिट शामिल है।

ये फ्लोटिंग सोलर प्रोजेक्ट रामागुंडम पावर प्रोजेक्ट में आ रहा है, जो देश में अब तक का सबसे बड़ा फ्लोटिंग सोलर प्लांट होगा। NTPC रामागुंडम में फ्लोटिंग सोलर फोटोवोल्टिक (PV) परियोजना जलाशय में 450 एकड़ के जल सतह क्षेत्र में फैलेगी। इस सोलर प्लांट की इस साल मई तक चालू होने की संभावना है।

Add Comment

Click here to post a comment