देश ट्रेंड टॉक फुल वॉल्यूम 360° योजना-परियोजना लाइफ स्टाइल

Electric Vehicles Only-Area : देश का पहला इलेक्ट्रिक वाहन शहर

PM-MODI
Spread It

अभी पिछले दिनों यानी 5 जून को पूरी दुनिया में वर्ल्ड एनवायरनमेंट डे World Environment Day) के रूप में मनाया गया था। इस दिन भारत में कई राज्यों ने इसे अपने अपने तरह से मनाया। जहां बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 5 करोड़ पेड़ लगाने का लक्ष्य रखा। तो वहीं अन्य राज्यों में पर्यावरण को प्रदूषित होने से बचाने के लिए नई नई योजनाएं लागू की गई। जिसमें से एक योजना गुजरात सरकार द्वारा ली गई। गुजरात (Gujrat) के केवड़िया (Kevadia) को ‘देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल-ओनली एरिया’ (India’s First Electric Vehicle Only Area) के रूप में विकसित किया जाएगा। केवड़िया में आवाजाही की अनुमति केवल ई व्हीकल्स (E vehicles) को होगी। विश्व पर्यावरण दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने गुजरात के आदिवासी बहुल नर्मदा जिले के केवड़िया क्षेत्र को देश की पहली इलेक्ट्रिक वाहन शहर (Only Electric Vehicle City) बनाने की घोषणा की।

आपको बता दें देश में जलवायु परिवर्तन (Climate Change) और बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए राज्य सरकार और केंद्र सरकार अब कड़े फैसले लेने लगी है। इसका एक उदाहरण गुजरात का केवड़िया जिला देखा जा सकता है। केवड़िया गुजरात का वह जगह है जहां दुनिया की सबसे ऊंची प्रतिमा स्थित है यानी ‘Statue of Unity।‘ केवडिया ‘Statue of Unity’ के रूप में सरदार वल्लभ भाई पटेल की 182 मीटर लम्बी मूर्ति के लिए जाना जाता था लेकिन अब यह शहर ‘Electric Vehicle Only Area’ के रूप में भी जाना जाएगा, जहां केवल Electric वाहन चलेंगे। Statue of Unity Area Development Tourism Governance Authority (SOUADTGA) ने रविवार को बताया कि वह गुजरात के केवड़िया में ‘देश का पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल-ओनली एरिया’ विकसित होगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा इस घोषणा के एक दिन बाद प्राधिकरण ने इस योजना की जानकारी दी है।

Statue of Unity Area Development Tourism Governance Authority (SOUADTGA) की तरफ से कहा गया कि Electric Vehicle Only Area अंतर्गत आने वाले सभी इलाकों में इलेक्ट्रिक वाहनों को ही आने जाने की अनुमति होगी। साथी पर्यटकों को भी डीजल पेट्रोल वाले वाहनों के जगह बैटरी वाले बसें से और गाड़ियां उपलब्ध कराई जाएगी।

इसके साथ ही केवड़िया जिले के स्थानीय निवासियों को तीन पहिया ई-वाहन खरीदने के लिए सहायता प्रदान भी की जाएगी। ऊर्जा विकास एजेंसी से समर्थन के आलावा प्राधिकरण को इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद में भी सब्सिडी के रूप में छूट दी जाएगी। प्राधिकरण से जुड़े अधिकारियों और कर्मचारियों को भी इस योजना से फायदा मिलेगा।