देश फुल वॉल्यूम 360° महिला

खिलौनो से खेलने की उम्र में बनीं लेखन की ग्रैंडमास्टर

abhijita-gupta
Spread It

7 साल की विलक्षण अभिजीता गुप्ता दुनिया की सबसे कम उम्र की लेखिका और लेखन में ग्रैंड मास्टर बनीं। इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने उन्हें ‘world’s youngest author’ के रूप में मान्यता दी है, जबकि एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स ने उन्हें ‘Grandmaster in Writing’ के खिताब से सम्मानित किया है। अभिजीता ने कोविड -19 महामारी के दौरान अपनी पुस्तक ‘Happiness All Around’ शीर्षक से एक किताब लिखी है, जिसने उन्हें ‘World’s Youngest Author’ के रूप में मान्यता दी है।

अभिजीता के माता-पिता ने इस पुस्तक को प्रकाशित करवाने में मदद की। यह पुस्तक Invincible Publishers द्वारा प्रकाशित की गई है और हार्ड कॉपी और Kindle edition दोनों के रूप में उपलब्ध है। अभिजीता की यह पुस्तक अच्छी तरह से सोची-समझी दृष्टांतों के साथ छोटी कहानियों और कविताओं का संग्रह है। उनकी लिखी कहानियाँ और कविताएँ उनके माता-पिता और दादा-दादी, प्रकृति और दोस्ती के इर्द-गिर्द घूमती हैं।

“Happiness All Around” बच्चों के लिए किताब है और एक बच्चे द्वारा लिखी जाने वाली कुछ पुस्तकों में से एक है। इस पुस्तक में 10 कविताएँ और चार कहानियाँ हैं। अभिजीता प्रसिद्ध कवि युगल- ‘राष्ट्रकवि मैथिलीशरण गुप्त और संतकवी श्री सियारामशरण गुप्त’ की तीसरी पीढ़ी से हैं। अभिजीता, आशीष गुप्ता, जो पेशे से चार्टर्ड अकाउंटेंट हैं और अनुप्रिया जो एक इंजीनियर-उद्यमी है की एकमात्र बेटी है। वह अपने माता-पिता के साथ गाजियाबाद में रहती है।

अभिजीता ने तभी से लिखना शुरू किया, जब वह केवल 5 साल की थी। पहली कहानी जो उन्होंने लिखी थी, वह The Elephants Advice और उनकी पहली कविता A Sunny Day थी – ये दोनों लेखन उनकी इस पुस्तक में शामिल हैं। वह वर्तमान में कक्षा 2 की एक छात्रा है। अभिजीता के लिए, लेखन सकारात्मकता का अमृत है। वह सुपर ऑब्जर्वेशन स्किल वाली एक चुलबुली लड़की है जो अपने आस-पास की हर छोटी-बड़ी चीज़ से प्रेरित हो जाती है। उनकी अगली किताब महामारी पर उनके विचारों और बच्चों पर इसके प्रभाव पर ध्यान केंद्रित करेगी।