फुल वॉल्यूम 360° देश विदेश

भारत ने अमेरिका के साथ clean energy पर काम करने में व्यक्त की अपनी प्रतिबद्धता, US SPEC John Kerry इस सिलसिले में सितंबर में कर सकते हैं भारत का दौरा

bhupendra-yadav
Spread It

भारत ने स्वच्छ ऊर्जा पर अमेरिका के साथ काम करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त की है। इस संबंध में पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री भूपेंद्र यादव ने मंगलवार 24 अगस्त को अमेरिका के राष्ट्रपति के विशेष दूत (SPEC) जॉन केरी के साथ टेलीफोन पर बातचीत की।

इन अहम मुद्दों पर हुई चर्चा

बातचीत के दौरान ‘भारत-अमेरिका जलवायु एवं स्वच्छ ऊर्जा एजेंडा 2030 की साझेदारी’ के तहत जलवायु कार्रवाई एवं वित्तीय संग्रहण संवाद यानि क्लाइमेट एक्शन एंड फाइनेंस मोबिलाइजेशन डॉयलॉग (CAFMD) ट्रैक और अन्य संबंधित मुद्दों पर बात हुई।

भारत-अमेरिका जलवायु एवं स्वच्छ ऊर्जा एजेंडा 2030 पर होगा काम

गौरतलब हो भारत और अमेरिका इस बात पर सहमत हुए हैं कि दोनों पक्ष, ‘भारत-अमेरिका जलवायु एवं स्वच्छ ऊर्जा एजेंडा 2030 साझेदारी’ के तहत एक रचनात्मक जुड़ाव के लिए काम करेंगे।

भारत स्वच्छ ऊर्जा पर अमेरिका के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध

इस पर पर्यावरण मंत्री ने कहा है कि यह मंच जलवायु कार्रवाइयों के लिए एक साथ काम करने के अधिक अवसर प्रदान करते हैं। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भारत स्वच्छ ऊर्जा पर अमेरिका के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध है।

सितंबर महीने में भारत आ सकते हैं जॉन केरी

एसपीईसी जॉन केरी ने पेरिस समझौते के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए मौजूदा दशक में कार्रवाइयों को बढ़ाने की खातिर ‘भारत-अमेरिका जलवायु एवं स्वच्छ ऊर्जा एजेंडा 2030 साझेदारी (एजेंडा 2030 साझेदारी) के तहत जलवायु कार्रवाई एवं वित्तीय संग्रहण संवाद (CAFMD) की शुरुआत का जिक्र किया। बता दें कि स्वच्छ ऊर्जा पर भारत-अमेरिका साझेदारी को आगे बढ़ाने के लिए केरी के सितंबर के महीने में भारत आने की भी संभावना है।