फुल वॉल्यूम 360° खेल

Junior World Championship में भारतीय पहलवानों ने दिखाया अपना जलवा, जीते 11 पदक

junior-world-championship
Spread It

अखाड़ा हो या मैट, कुश्ती में भारतीय पहलवानों ने हमेशा ही देश को सम्मान दिलाया है। टोक्यो ओलंपिक में सीनियर पहलवानों के बेहतरीन प्रदर्शन के बाद अब जूनियर पहलवानों ने विश्व चैंपियनशिप (World Championship) में अपना जलवा दिखाया है। रूस के उफा में आयोजित हुई इस बार की जूनियर वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप 2021 (Junior World Wrestling Championship) में भारतीय पहलवानों ने 11 पदक जीतें हैं। भारतीय पुरुष और महिला दोनों ही पहलवानों ने पूरी प्रतियोगिता में अपना दबदबा बनाए रखा।

पुरुष पहलवानों ने जीते 6 पदक

पुरुष पहलवानों ने जूनियर वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में कुल 6 पदक अपने नाम किए, जिसमें एक रजत और पांच कांस्य पदक शामिल हैं। पुरुषों की फ्रीस्टाइल में, भारत पदक तालिका में 12 देशों में छठे और अंक तालिका में पांचवें स्थान पर रहा। 61 किग्रा वर्ग में, रविंदर ईरानी प्रतिद्वंद्वी रहमान अमौजादखलीली को 9-3 से हराकर फाइनल में जगह बनाने वाले अकेले भारतीय थे। रविंदर ने सेमीफाइनल में अर्मेनिया के लेविक मिकायेलियन को 12-2 से हराया। हालांकि रविंदर को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। रविंदर एक मात्र भारतीय पुरुष पहलवान हैं, जिन्होंने इस बार रजत पदक हासिल लिया।

यश (74 किग्रा), गौरव बालियान (79 किग्रा), पृथ्वीराज पाटिल (92 किग्रा), दीपक (97 किग्रा), अनिरुद्ध (125 किग्रा) ने रेपेचेज राउंड का पूरा उपयोग किया और कांस्य पदक अपने नाम किए। कुश्ती को जानने वाले इस बात से निराश रहे कि कोई भी भारतीय 57,65 और 86 भार वर्ग में प्रभाव नहीं डाल सका। जबकि भारतीय टीम इन भार वर्गों में काफी मजबूत है। हाल ही में टोक्यो ओलंपिक के लिए भी इनमें से कुछ पहलवानों ने क्वालीफाइ किया था।

इस बार नहीं आया स्वर्ण

ईरान 178 अंक, रूस 142 अंक, यूएसए 129 अंक, अजरबैजान 122 अंक और भारत 101 अंक पॉइंट स्टैंडिंग में शीर्ष पांच अंक थे। एस्टोनिया के तेलिन शहर में पिछले 2019 के संस्करण में, भारत ने एक स्वर्ण और दो कांस्य पदक जीते और 25 देशों में 11वें स्थान पर रहा था।

प्रधानमंत्री ने खिलाड़ियों को दी बधाई

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप 2021 में पदक जीतने पर पहलवानों को बधाई दी है।
प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा,”प्रतिभाशाली पहलवानों को और ऊर्जा! जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप 2021 में, हमारे पुरुष और महिला दल 4 रजत पदक समेत कुल 11 पदक जीतकर वापस आए हैं। सफलता के लिए टीम को बधाई और उनके भविष्य के प्रयासों के लिए शुभकामनाएं।”

महिला पहलवानों ने किया सबको चकित

रूस के उल्फा में जूनियर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में भारतीय महिला पहलवानों ने तीसरा स्थान हासिल किया। अमेरिका के 143 अंक, रूस के 134 अंक, भारत के 134 अंक, बेलारूस के 96 अंक और तुर्की के 92 अंक सहित ये देश शीर्ष पांच में रहे। भारतीय महिला पहलवानों ने तीन रजत पदक सहित कुल पांच पदक जीते। संजू देवी को महिला फ्रीस्टाइल 62 किग्रा वर्ग के स्वर्ण पदक मैच में मेजबान अलीना कासाबीवा द्वारा 0-10 से हारकर रजत से संतोष करना पड़ा। सेमीफाइनल में, देवी ने अपने प्रतिद्वंद्वी अजरबैजान की सोल्टानोवा को एक मुकाबले में 8-5 से हराकर फाइनल में जगह बनाई थी।

महिलाओं के 65 किग्रा वर्ग के फाइनल में भटेरी मोल्दोवा, इरिना रिंगासी से 2-12 से हार गईं और रजत पदक अपने नाम किया। दूसरी ओर 76 किग्रा वर्ग में बिपाशा ने भी रजत पदक देश के नाम किया। फाइनल में पहुंचने से पहले बिपाशा ने कजाकिस्तान की दिलनाज मुल्किनोवा को 6-3 और मंगोलिया की ओडबाग उलजीबत को 9-4 से हराया था।

सिमरन (50 किग्रा) और सीतो (55 किग्रा) ने देश के लिए कांस्य पदक जीते। वहीं 72 किग्रा वर्ग में, सानेह ने इंजरी (घुटने की चोट) के चलते रूस की मरियम गुसेनोवा से कांस्य पदक गंवा दिया।