फुल वॉल्यूम 360° खेल

England के दर्शकों ने चिढ़ाते हुए सिराज से पूछा स्कोर, गेंदबाज ने दिया करारा जवाब

mohammed-siraj
Spread It

क्रिकेट मैच जिसे जेंटलमैन का खेल कहा जाता है उसमें भी हमें अक्सर विपक्षी टीम को चिढ़ाने का मामला देखने को मिलता रहा है। कभी यह हरकत खिलाड़ियों द्वारा की जाती है वहीं कभी कभी इस में दर्शकों का हाथ रहता है। ऐसा ही एक मामला हाल में देखा गया
दरअसल, भारत और इंग्लैंड के बीच लीड्स में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में विराट की सेना महज 78 रन पर ऑलआउट हो गई। England ने बिना कोई विकेट खोए 120 रन भी बनाए । इस मजबूत पोजिशन से इंग्लैंड के सपोर्टर्स काफी खुश नजर आए। ये खुशी और उत्साह लीड्स में भी दिखाई दे रहा था। इसी बीच बॉलिंग के बाद बाउंड्री पर फील्डिंग करने गए सिराज को कुछ दर्शकों ने चिढ़ाकर स्कोर पूछा। सिराज ने भी इसका करारा जवाब दिया। भारतीय तेज गेंदबाज ने इशारे में कहा कि भारत सीरीज में 1-0 से आगे है। सिराज पर दर्शकों ने फील्डिंग के दौरान गेंद भी फेंकी थी ।

भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने पहले दिन का खेल खत्म होने के बाद यह खुलास किया कि फील्डिंग के दौरान तेज गेंदबाज मोहम्मद सिराज पर दर्शकों ने गेंद फेंकी थी। इसके बाद भारतीय कप्तान कोहली काफी गुस्से में थे और उन्होंने सिराज को गेंद बाहर फेंकने के लिए कहा। कोहली का गुस्सा कैमरों में भी कैद हुआ था।

पंत ने कहा कि दर्शकों में से किसी ने सिराज पर गेंद मारी थी, इसलिए कोहली नाराज थे। इस विकेटकिपर बल्लेबाज ने कहा कि आप जो कुछ भी कहना चाहते हैं, कह सकते हैं, परंतु फील्डरों पर चीजें फेंकना सही नहीं है ।

सिराज इंग्लैंड के खिलाफ दो टेस्ट में ले चुके हैं 11 विकेट

आपको बता दें, मोहम्मद सिराज (Mohammad Siraj) इंग्लैंड के खिलाफ पहले दो टेस्ट में 11 विकेट ले चुके हैं। लॉर्ड्स में खेले गए दूसरे टेस्ट में उन्होंने आठ विकेट लिए थे। पहली पारी में 30 ओवर में 94 रन देकर 4 विकेट लिए । वहीं दूसरी पारी में 10.5 ओवर में 32 रन देकर 4 विकेट लिए। वे मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और इशांत शर्मा की मौजूदगी वाली तेज गेंदबाजी चौकड़ी के सबसे युवा सदस्य हैं।

बता दें, ऑस्ट्रेलिया में भी सिराज को दर्शकों के बदसलूकी का सामना करना पड़ा था । ऑस्ट्रेलियाई फैंस ने मोहम्मद सिराज को इस साल की शुरुआत में ऑस्ट्रेलिया दौरे पर अपशब्द कहा था। सिडनी टेस्ट के दौरान कुछ दर्शकों ने उन पर नस्लीय टिप्पणियां की थीं और उन्हें अलग-अलग नामों से पुकारा था। इसके चलते खेल को बीच में रोकना पड़ा था और दर्शकों को स्टेडियम के बाहर किया गया था। सिराज और अजिंक्य रहाणे ने तब इस बारे में अंपायर से शिकायत की थी। इसके चलते काफी विवाद भी हुआ था ।