फुल वॉल्यूम 360° देश महत्वपूर्ण-दिवस-सप्ताह-वर्ष

Customized Crash Course programme : फ्रंटलाइन वर्कर्स को मिली यह सौगात

PM-MODI
Spread It

इस कोविड-19 महामारी में जो मसीहा बनकर हम सब के साथ डट कर खड़े रहे, वो हैं फ्रंटलाइन वर्कर्स। इन्हीं फ्रंटलाइन वर्कर्स के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक सौगात लेकर आए हैं। दरअसल, कोविड के खिलाफ जंग में नई स्किल्ड वर्कफोर्स को तैयार करने के लिए एक Customized Crash Course programme लॉन्च किया गया है। इस शुभारंभ के साथ 26 राज्यों के 111 प्रशिक्षण केन्द्रों में इस कार्यक्रम की शुरूआत हो गई है।

पीएम मोदी ने यह प्रोग्राम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए लॉन्च किया। उन्होंने कहा, ‘’ये वायरस हमारे बीच अभी भी है और इसके मयूटेंट होने की संभावना भी बनी हुई है। इसलिए हर इलाज और सावधानी के साथ आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए हमें देश की तैयारियों को बढ़ाना होगा। इसी लक्ष्य के साथ देश में एक लाख फ्रंटलाइन कोरोना वॉरियर तैयार करने का महाअभियान शुरू हो रहा है।”

इस कार्यक्रम का उद्देश्य देश भर में एक लाख से अधिक कोविड योद्धाओं को कौशल प्रदान करना है। होम केयर सपोर्ट, बेसिक केयर सपोर्ट, एडवांस केयर सपोर्ट, इमरजेंसी केयर सपोर्ट, सैंपल कलेक्शन सपोर्ट और मेडिकल इक्विपमेंट सपोर्ट जैसी छह अनुकूलित नौकरी भूमिकाओं में कोविड योद्धाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा। यह क्रैश कोर्स 2-3 महीने में ही पूरा हो जाएगा। फ्रंटलाइन वर्करों के इस विशेष प्रशिक्षण कार्यक्रम के अंतर्गत, उम्मीदवारों को निःशुल्क ट्रेनिंग, स्किल इंडिया का सर्टिफिकेट, भोजन व आवास सुविधा, काम पर प्रशिक्षण के साथ स्टाइपेंड एवं प्रमाणित उम्मीदवारों को 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा प्राप्त होगा।

इस कार्यक्रम को Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana 3.0 के सेंट्रल कॉम्पोनेन्ट के तहत एक विशेष कार्यक्रम के रूप में तैयार किया गया है, जिसमें कुल 276 करोड़ रुपये का फाइनेंसियल आउटले है। यह कार्यक्रम स्वास्थ्य क्षेत्र में जनशक्ति की वर्तमान और भविष्य की जरूरतों को पूरा करने के लिए कुशल नॉन-मेडिकल स्वास्थ्य कर्मियों का निर्माण करेगा।