फुल वॉल्यूम 360° खेल

BCCI ने IPL के पार्ट 2 के लिए जारी की सुरक्षा गाइडलाइंस, जानिए क्या होगा यदि कोई खिलाड़ी या स्टाफ हो जाता है कोरोना संक्रमित!

ipl 2021
Spread It

इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2021 का आगाज अप्रैल के महीने में भारत में हुआ था। 29 मैच खेले जाने के बाद खिलाड़ियों के कोरोना संक्रमित होने की वजह से आईपीएल के इस संस्करण को बीच में ही रोकना पड़ा था। अब लीग के इस संस्करण का दूसरा चरण 19 सितंबर से खेला जाना है, जिसका आयोजन संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में होना तय किया गया है। टूर्नामेंट शुरू होने से पहले बीसीसीआई (BCCI) ने हेल्थ और सेफ्टी प्रोटोकॉल जारी किए हैं ताकि बायो-बबल ना टूट सके। सभी खिलाड़ियों और स्टाफ को नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। आईपीएल के इस संस्करण के पहले चरण में कड़े बायो-बबल के होने के बावजूद कई खिलाड़ी और स्टाफ और सदस्य कोरोना संक्रमित हो गए थे जिस वजह से लीग बीच मे स्थगित करनी पड़ी और इन्वेस्टर्स को काफी नुकसान भी झेलना पड़ा।

क्या होगा यदि कोई खिलाड़ी या स्टाफ मेंबर इस बार हो जाता है कोरोना का शिकार

अब सवाल है कि अगर इस बार भी ऐसा कुछ होता है, अगर सेफ्टी प्रोटोकॉल का पालन करने के बाद भी कोई खिलाड़ी या सपोर्ट स्टाफ का सदस्य कोरोना पॉजिटिव हो जाता है तो क्या किया जाएगा?
बीसीसीआई (BCCI) की गाइडलाइन के अनुसार, आईपीएल के दौरान खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद उन्हें कम से कम दस दिन तक आइसोलेट रहना होगा। इसके बाद नौवें और दसवें दिन लगातार दो टेस्ट किये जायेंगे। कोरोना संक्रमित हुए खिलाड़ी या स्टाफ को बायो-बबल में वापसी करने के लिए 24 घंटे में आरटी-पीसीआर (RTPCR) टेस्ट की दो रिपोर्ट का निगेटिव आना जरूरी है। साथ ही संक्रमित शख्स में किसी भी तरह के कोरोना से जुड़े लक्षण नहीं होने चाहिए और दवाइयां बंद हुए भी 24 घंटे से अधिक वक्त हो जाने के बाद ही उन्हें बायो-बबल में वापस प्रवेश करने की इजाजत होगी।


इसके अलावा फाल्स पॉजिटिव टेस्ट आने पर फिर से परीक्षण किया जाएगा। अगर पुराने संक्रमण के चलते खिलाड़ी या स्टाफ का सदस्य का फाल्स पॉजिटिव पाया गया तो सिरोलॉजी के साथ-साथ दोबारा आरटी-पीसीआर टेस्ट होगा।


बता दें, बीसीसीआई दूसरे चरण में हर मुमकिन कोशिश कर रहा है कि इस आईपीएल संस्करण को सुचारू रूप से बिना किसी बाधा के निपटाया जा सके। बोर्ड की पूरी कोशिश है कि कोई कोरोना पॉजिटिव केस सामने ना आए। इसीलिए, इस बार कुल 14 बायो सिक्योर बबल बनाने का फैसला किया गया है। 8 बबल टीमों के लिए, 3 मैच अधिकारियों के लिए और बाकी तीन ब्रॉडकास्टरों और कमेंटेटर्स के लिए होंगे। लीग का फाइनल मैच 15 अक्टूबर को दुबई में खेला जाना है।