फुल वॉल्यूम 360° खेल

T10 और T20 के बाद अब आया क्रिकेट का नया formate , यहां दिखेगा क्रिकेट का The Hundred अवतार

england-100-league
Spread It

क्रिकेट के टेस्ट, एकदिवसीय, टी20 जैसे प्रारूपों से परिचित हैं। इंग्लैंड में अगले सप्ताह से क्रिकेट का नया अवतार देखने को मिलने वाला है। जी हाँ, इंग्लैंड की सरजमीं पर टी10 या टी20 क्रिकेट की नहीं, बल्कि 100 गेंद वाले टूर्नामेंट की नींव रखी जा रही है। इस सिरीज़ का पहला सीजन 21 जुलाई से शुरू होने वाला है। इस टूर्नामेंट का नाम “द हंड्रेड” (The Hundred) रखा गया है, जिसके नियम तैयार हो गए हैं और अब उन्हें सार्वजनिक भी कर दिया गया है। इस लीग में काफी कुछ बाक़ी लीग से बदला हुआ नजर आने वाला है। 

यह फ़ॉर्मैट अन्य फ़ॉर्मैट से काफ़ी अलग होने वाला है। इस मैच की प्रत्येक पारी को 100 गेंदों तक सीमित रखा जाएगा, जबकि “द हंड्रेड” (The Hundred) के पहले सत्र में ओवर पांच गेंदों का होगा। हालांकि, गेंदबाज लगातार दस गेंद भी फेंक सकते हैं, लेकिन पांच गेंद होने पर यानी की ओवर पूरा होने पर अंपायर अपने पास मौजूद सफेद कार्ड को ऊपर उठाकर संकेत देंगे की गेंदबाज के कोटे की पांच गेंद पूरी हो चुकी है। इसके अलावा इस फ़ॉर्मैट में पावरप्ले 25 गेंदों का होगा, जिस दौरान सिर्फ दो खिलाड़ी 20 गज के घेरे के बाहर रह सकेंगे।

इसके बाद क्षेत्ररक्षण करने वाली टीम दो मिनट का स्ट्रैटेजिग टाइमआउट के लिए कह सकेंगी और पारी के दौरान कभी भी इसे ले सकेंगी। हालांकि, यह अनिवार्य नहीं होगा, लेकिन बल्लेबाजी करने वाली टीम इसके लिए नहीं कह सकेगी। वहीं, टॉस डीजे स्टैंड पर होगा। इंग्लैंड और क्रिकेट बोर्ड (ECB) ने मंगलवार को द हंड्रेड के आयोजन के लिए नियमों की जानकारी दी। साथ ही इंग्लैंड में पहली बार घरेलू क्रिकेट में डीआरएस (DRS) का इस्तेमाल किया जाएगा।

“द हंड्रेड” लीग में एक गेंदबाज को अधिकतम 20 गेंद फेंकने की अनुमति होगी, जिसमें वह चार बार में पांच-पांच गेंदें फेंक सकेगा या फिर दो बार 10-10 गेंदें कर सकेंगे। लगातार दस गेंद फेंकने का फैसला फील्डिंग टीम के कप्तान को लेना होगा। मैच के दौरान दोनों पारियों में अलग-अलग सफेद कूकाबुरा (Kookaburra) गेंदों का इस्तेमाल होगा और एक छोर से एक बार में 10 गेंदें फेंकी जाएंगी, जिन्हें पांच-पांच के दो भागों में भी किया जा सकेगा। जबकि इस फ़ॉर्मैट में नो बॉल के लिए दो रन रखे गए हैं।