इवेंट

स्वच्छ वायु कार्यक्रम के तहत समझौता ज्ञापन पर हुए हस्ताक्षर

prakash-javadekar
Spread It

National Clean Air Programme में प्रस्तावित कार्य योजना के तहत 132 शहरों की वायु गुणवत्ता में सुधार के लिए केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर की उपस्थिति में विभिन्न हितधारकों के साथ एक Memorandum of Understanding (MoU) पर हस्ताक्षर किए गए। यह पहल 100 से अधिक शहरों में अगले 4 वर्षों में वायु प्रदूषण को 20% तक रोकने के दृष्टिकोण के अनुरूप है।

प्रकाश जावड़ेकर ने इस अवसर पर ‘स्वच्छ भारत, स्वच्छ वायु’ के विचार पर जोर दिया और विभिन्न निकायों और व्यक्तियों से आगामी चार वर्षों में वायु प्रदूषण पर लगभग 20 प्रतिशत तक अंकुश लगाने के लक्ष्य की दिशा में काम करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा “यह एक आसान काम नहीं है लेकिन एक कठिन चुनौती है जिसे हम सभी को एक साथ हासिल करने की आवश्यकता है। विभिन्न शहरों में 6,000 ई-बसों के लिए धन आवंटित करने के बावजूद, केवल 600 बसों की खरीद और परिचालन किया गया है।”

National Clean Air Programme (NCAP) 2024 तक पार्टिकुलेट मैटर की कंसंट्रेशन में 20-30 प्रतिशत की कमी लाने के लक्ष्य के साथ देश भर में वायु प्रदूषण की समस्या से निपटने के लिए एक लॉन्ग टर्म, टाइम बाउंड, राष्ट्रीय स्तर की रणनीति है। NCAP के तहत, शहर की कार्य योजना कई इम्प्लीमेंटेशन एजेंसियों को एक साथ तैयार करके बहुआयामी कार्यों के माध्यम से स्पेसिफिक वायु प्रदूषण सोर्सेज को नियंत्रित करने के लिए तैयार की गई है।

एक नेशनल नॉलेज नेटवर्क जिसमें प्रमुख एयर क्वालिटी स्पेशलिस्ट शामिल हैं, को NCAP के तहत गतिविधियों का समर्थन करने के लिए एक तकनीकी सलाहकार समूह के रूप में गठित किया गया है और वायु गुणवत्ता रेसर्चेस का संचालन करने में स्थानीय Institutes of Repute का मार्गदर्शन करता है।

Add Comment

Click here to post a comment