इवेंट

आजादी के अमृत महोत्सव का हुआ शुभारंभ

amrut-mahotsav
Spread It

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ का आगाज किया। उन्होंने अहमदाबाद के साबरमती आश्रम से गुजरात के नवसारी जिले के दांडी तक 241 मील के मार्च को हरी झंडी दिखाकर इस कार्यक्रम का उद्घाटन किया। आज का कार्यक्रम 15 अगस्त, 2022 तक 75 सप्ताह तक चलने वाले समारोहों की शुरुआत को चिह्नित करेगी।

यह इवेंट अगले साल स्वतंत्रता दिवस तक 75 सप्ताह लंबे उत्सव की शुरुआत है। केंद्र सरकार ने 259 सदस्यों के साथ मोदी की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय समिति का गठन किया है, जो “राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारतीय स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ की स्मृति” कार्यक्रम बनाने के लिए है। केंद्र के साथ ही सभी राज्यों में 75 सप्ताह स्वतंत्रता संग्राम से जुड़े अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन होगा। इन कार्यक्रमों के जरिए देशभक्ति का संदेश और भारतीय संस्कृति की झलक दिखाने की कोशिश की जाएगी।

15 अगस्त 2022 के 75 हफ्ते पहले 12 मार्च 2021 से इन आयोजनों की शुरुआत की जा रही है। आज, समर्पित वेबसाइट और लोगो का अनावरण पीएम मोदी द्वारा किया जाएगा। समारोह में देश भर के 75 ऐतिहासिक स्थलों के 75 स्थानों पर आयोजित होने वाले 75 सप्ताह के 75 कार्यक्रम शामिल होंगे। इन समारोह के दौरान देश न केवल सभी महत्वपूर्ण मील के पत्थर, स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान महत्वपूर्ण समय को याद रखेगा, बल्कि हमारे भविष्य के विकास के लिए नई ऊर्जा को भी प्राप्त करेगा।

आज महात्मा गांधी के नेतृत्व में नमक के लिए किया गया ऐतिहासिक दांडी मार्च की 91 वीं वर्षगांठ भी है। महात्मा गांधी के नेतृत्व में 1930 में 12 मार्च को ही साबरमती आश्रम से नवसारी के दांडी तक विरोध प्रदर्शन निकाला गया था। दांडी मार्च ब्रिटिश सरकार के नमक पर एकाधिकार के खिलाफ अहिंसक प्रदर्शन था। यह मार्च 12 मार्च से 6 अप्रैल 1930 तक चला था।

Add Comment

Click here to post a comment