एजुकेशन

Static GK 9th December 2021

Static-GK-9th-December-2021
Share Post

1.एक एसाटान अणु में कितने ऑक्सीजन परमाणु होते हैं?
(A) 4
(B) 3
(C) 1
(D) 2
उत्तर: (C) 1

एसीटोन, एक कार्बनिक यौगिक है जिसका सूत्र (CH3)2CO है। इसमें हाइड्रोजन परमाणुओं की संख्या 6, कार्बन परमाणुओं की संख्या 3 और ऑक्सीजन परमाणुओं की संख्या 1 होती है।

2.निम्नलिखित में से कौन-सा पर्यटन स्थल राजस्थान में स्थित नहीं है?
(A) पुष्कर
(B) रणकपूर
(C) कुशीनगर
(D) नाथद्वारा
उत्तर: (C) कुशीनगर

कुशीनगर (Kushinagar) भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के कुशीनगर ज़िले में स्थित एक नगर है। यह एक ऐतिहासिक स्थल है जहाँ महात्मा बुद्ध का महापरिनिर्वाण हुआ था।

3.निम्नलिखित में से कौन-सा माउंट आबू में स्थित है?
(A) हंसेश्वरी मंदिर
(B) नाहरगढ़ का किला
(C) दिलवाड़ा मंदिर
(D) सहेलियों की बाड़ी
उत्तर: (C) दिलवाड़ा मंदिर

दिलवाड़ा मंदिर या देलवाडा मंदिर, पाँच मंदिरों का एक समूह है। ये राजस्थान के सिरोही जिले के माउंट आबू नगर में स्थित हैं। इन मंदिरों का निर्माण ग्यारहवीं और तेरहवीं शताब्दी के बीच हुआ था। यह शानदार मंदिर जैन धर्म के र्तीथकरों को समर्पित हैं।

4.लाला लाजपत राय द्वारा स्थापित ‘वंदे मातरम’ एक……..दैनिक था.
(A) पंजाबी
(B) अंग्रेजी
(C) हिन्दी
(D) उर्दू
उत्तर: (D) उर्दू

1920 में लाला लाजपत राय ने लाहौर से ‘वंदे मातरम’ शीर्षक से डेली अखबार का प्रकाशन शुरू किया था। यह एक उर्दू दैनिक था।

WhatsApp Image 2021 12 09 at 6.40.53 PM
Static GK 9th December 2021

5.निम्नलिखित में से कौन-सा एक धात्विक खनिज है?
(A) माइका
(B) बॉक्साइट
(C) सैंडस्टोन
(D) पोटाश
उत्तर: (B) बॉक्साइट

बॉक्साइट एक धात्विक खनिज है। यह पत्थर सर्वप्रथम फ्रांस में लैस बौक्स के निकट मिला था। इसी आधार पर इस खनिज का नाम बॉक्साइट पड़ा। इसी खनिज से विश्व का अधिकांश ऐलुमिनियम निकाला जाता है। इसका रंग सफ़ेद या भूरा होता है।

6.किसी पदार्थ की ऊष्मा धारिता को मापने के लिए प्रयोगशाला में किस उपकरण का उपयोग किया जाता है?
(A) मैनोमीटर
(B) हाइड्रोमीटर
(C) हाइग्रोमीटर
(D) कैलोरीमीटर
उत्तर: (D) कैलोरीमीटर

ऊष्मामापी या कैलोरीमीटर एक वैज्ञानिक उपकरण है जो ऊष्मामिति में सहायक है। इसका उपयोग रासायनिक अभिक्रियाओं की ऊष्मा मापने, या भौतिक परिवर्तनों की ऊष्मा मापने या ऊष्मा धारिता मापने के लिये किया जाता है। डिफरेंशियल स्कैनिंग कैलोरीमीटर, आइसोथर्मल माइक्रोकैलोरीमीटर, टाइट्रेशन कैलोरीमीटर तथा त्वरित दर कैलोरीमीटर आदि प्रमुख ऊष्मामापी हैं।

7.प्लास्टिक कचरा प्रबंधन नियम, 2016 के अनुसार, प्लास्टिक कैरी बैग की न्यूनतम अनुमत मोटाई क्या है?
(A) 25 माइक्रोन
(B) 30 माइक्रोन
(C) 50 माइक्रोन
(D) 20 माइक्रोन
उत्तर: (C) 50 माइक्रोन

प्लास्टिक अपशिष्ट प्रबंधन नियम, 2016 , भारत में 50 माइक्रोन से कम मोटाई वाले कैरी बैग और प्लास्टिक शीट के निर्माण, आयात, स्टॉकिंग, बिक्री, वितरण और उपयोग को प्रतिबंधित करता है। यह गुटखा, तंबाकू और पान मसाला को स्टोर करने, पैक करने या बेचने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली प्लास्टिक सामग्री का उपयोग करने वाले पाउच पर भी प्रतिबंध लगाता है।

8.निम्नलिखित में से किस खमीर का उपयोग मादक पेय पदार्थों के निर्माण में किया जाता है?
(A) सैक्रोमाइसेंस सेरेविजिया
(B) क्रिप्टोकोकस नेफोर्मेंस
(C) पिचिया पास्टरिस
(D) क्लूवेरोमयसिस लैक्टिस
उत्तर: (A) सैक्रोमाइसेंस सेरेविजिया

सैकेरोमाइसीज सेरेविसी का उपयोग मादक पेय पदार्थों के निर्माण में किया जाता है। इस वर्ग के विशेष उपभेदों को किण्वन में नियोजित किया जाता है और यह विभिन्न पेय पदार्थों के स्वाद और सुगंध विशेषताओं पर गहरा प्रभाव डालते हैं।

9…………. भगवान कृष्ण के जीवन पर आधारित लोकसंगीत रंगमंच का एक रूप है।
(A) माच
(B) रासलीला
(C) नौटंकी
(D) तमाशा
उत्तर: (B) रासलीला

रासलीला या कृष्णलीला में युवा और बालक कृष्ण की गतिविधियों का मंचन होता है। कृष्ण की मनमोहक अदाओं पर गोपियां यानी बृजबालाएं लट्टू थीं। कान्हा की मुरली का जादू ऐसा था कि गोपियां अपनी सुतबुत गंवा बैठती थीं। गोपियों के मदहोश होते ही शुरू होती थी कान्हा के मित्रों की शरारतें। माखन चुराना, मटकी फोड़ना, गोपियों के वस्त्र चुराना, जानवरों को चरने के लिए गांव से दूर-दूर छोड़ कर आना ही प्रमुख शरारतें थी, जिन पर पूरा वृन्दावन मोहित था। जन्माष्टमी के मौके पर कान्हा की इन सारी अठखेलियों को एक धागे में पिरोकर यानी उनको नाटकीय रूप देकर रासलीला या कृष्ण लीला खेली जाती है।

10.भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड की स्थापना वर्ष 1988 में एक गैर-सांविधिक निकाय के रूप में हुई थी, इसके बाद इसे……..में सांविधिक निकाय के रूप में स्थापित किया गया।
(A) 1994
(B) 1992
(C) 1995
(D) 1993
उत्तर: (B) 1992

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड की स्थापना वर्ष 1988 में एक गैर-सांविधिक निकाय के रूप में हुई थी, इसके बाद इसे 1992 में सांविधिक निकाय के रूप में स्थापित किया गया।

Latest News

To Top