एजुकेशन

Static GK 18th February 2022

Static-GK
Share Post

1.प्रसिद्ध यात्री और लेखक मुहम्मद इब्नबतूता, जिन्होंने चौदहवीं शताब्दी में भारत सहित कई देशों का भ्रमण किया, वे निम्नलिखित में से किस देश के निवासी थे?
(A) मोरक्को
(B) लीबिया
(C) घाना
(D) अल्जीरिया

उत्तर : (A) मोरक्को
इब्न बतूता मुहम्मद बिन तुगलक के शासन के दौरान भारत आया था। वह एक मुस्लिम यात्री था जो मोरक्को से भारत आया था। रिहलाह इब्न बतूता का सबसे प्रसिद्ध पुस्तक है। इब्न बतूता ने प्रसिद्ध कुतुब कॉम्प्लेक्स के इतिहास के बारे में लिखा था, और क्ववाट अल-इस्लाम मस्जिद के बारे में भी लिखा था। इब्न बतूता ने भी लंबे अकाल का उल्लेख किया जो 1335 ईस्वी से लगभग सात वर्षों तक रहा।

2.निम्नलिखित में से किसे क्रिकेट खेल के तीनों प्रारूपों में सर्वाधिक अंतर्राष्ट्रीय रन बनाने का गौरव प्राप्त है?
(A) महेन्द्र सिंह धोनी
(B) रिकी पोंटिंग
(C) डॉन ब्रैडमैन
(D) सचिन तेंदुलकर

उत्तर : (D) सचिन तेंदुलकर
सचिन तेंदुलकर भारत के भूतपूर्व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी और कप्तान हैं। वे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। तेंदुलकर ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद द्वारा आयोजित टेस्ट मैचों और एकदिवसीय मैचों में सबसे अधिक शतक बनाये हैं। टेस्ट मैचों में उनके कुल 51 शतक और एकदिवसीय मैचों में 49 शतक एक बल्लेबाज द्वारा सर्वाधिक शतकों के विश्व कीर्तिमान हैं। उन्होंने अपना अन्तिम शतक मार्च 2012 में बांग्लादेश के विरुद्ध बनाया। इस मैच में उन्होंने 114 रन बनाकर अपने अन्तरराष्ट्रीय शतकों का शतक पूर्ण किया, ऐसा शतक बनाने वाले वो दुनिया के प्रथम और एकमात्र क्रिकेट खिलाड़ी हैं।

3.निम्नलिखित में से किस राष्ट्र ने पुरुषों की हॉकी में अधिकतम ओलंपिक स्वर्ण पदक जीते हैं?
(A) ऑस्ट्रेलिया
(B) नीदरलैंड
(C) पाकिस्तान
(D) भारत

उत्तर : (D) भारत
भारत ने ओलम्पिक के इतिहास में हॉकी में 8 स्वर्ण पदक जीते हैं जो कि अधिकतम हैं। भारतीय पुरुषों की हॉकी टीम ने 1948 में ग्रेट ब्रिटेन को हराकर एक स्वतंत्र राष्ट्र के रूप में लंदन ओलंपिक में अपना पहला स्वर्ण पदक जीता। ओलंपिक खेलों में भारत का पहला स्वर्ण भी स्वतंत्र था। कुल मिलाकर भारत ने 28 पदक जीते हैं। भारत 1900 से आज तक ओलंपिक में भाग ले रहा है।

4.जादूगोड़ा यूरेनियम खदान किस राज्य में स्थित है?
(A) मध्य प्रदेश
(B) छत्तीसगढ़
(C) झारखंड
(D) बिहार

उत्तर : (C) झारखंड
जादुगुड़ा खदान भारतीय राज्य झारखंड के सिंहभूम जिले के जादुगुड़ा गाँव में एक यूरेनियम खदान है। जदुगुड़ा देश की पहली खदान है जो व्यावसायिक स्तर पर यूरेनियम अयस्क का उत्पादन करती है। जादूगुड़ा में खनन कार्य 1967-68 में शुरू हुआ, यह देश की सबसे गहरी परिचालन वाली भूमिगत खदान भी है। इसकी गहराई लगभग 3000 फीट है, जो देश में सबसे गहरी में से एक है। सिंहभूम थ्रस्ट बेल्ट (झारखंड राज्य में) में जादूगुड़ा 1951 में देश में खोजा जाने वाला पहला यूरेनियम जमा है।

5.निम्नलिखित में से किस वर्ष में एम० के० गाँधी और लॉर्ड इरविन के बीच गाँधी-इरविन संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे?
(A) 1942 में
(B) 1941 में
(C) 1932 में
(D) 1931 में

उत्तर : (D) 1931 में
1931 में गांधी-इरविन संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे। उदारवादी राजनीतिज्ञ तेज बहादुर सप्रू और जयकर ने महात्मा गांधी और सरकार के बीच तालमेल बनाने के प्रयास शुरू किए। वायसराय लॉर्ड इरविन के साथ छह बैठकों ने अंततः दोनों के बीच दूसरे गोलमेज सम्मेलन में शामिल होने के लिए एक संधि पर हस्ताक्षर किए। गांधी – इरविन संधि के बारे में जवाहर लाल नेहरू ने टिप्पणी की, यह एक तरीका है जिससे दुनिया खत्म होती है, धमाके के साथ नहीं बल्कि एक फुसफुसाहट के साथ।

6.निम्नलिखित में से किसने किसानों से संबंधित राष्ट्रीय आयोग का नेतृत्व किया, जिनके द्वारा सिफारिश की गई कि कृषि फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) उत्पादन की भारित औसत लागत से कम से कम 50% अधिक होना चाहिए?
(A) ए०एम० खुसरो
(B) आर०वी० गुप्ता
(C) जी०वी० रामकृष्ण
(D) एम०एस० स्वामीनाथन

उत्तर : (D) एम०एस० स्वामीनाथन
एम. एस. स्वामीनाथन:-डॉ. एम. एस. स्वामीनाथन की अध्यक्षता वाले राष्ट्रीय किसान आयोग (NCF) ने सिफारिश की है कि एमएसपी उत्पादन की भारित औसत लागत से कम से कम 50 प्रतिशत अधिक होना चाहिए। डॉ. मोनकोम्बु सांबशिवन स्वामीनाथन को भारत में हरित क्रांति के जनक के रूप में भी जाना जाता है, जिन्होंने 1987 में भारत के किसानों को उच्च उपज वाले गेहूं और चावल की किस्मों की शुरुआत के लिए पहला विश्व खाद्य पुरस्कार प्राप्त किया था।

7.हड़प्पा स्थल रंगपुर किस वर्तमान भारतीय राज्य में स्थित है?
(A) हिमाचल प्रदेश
(B) पंजाब
(C) गुजरात
(D) हरियाणा

उत्तर : (C) गुजरात
रंगपुर गुजरात के काठियावाड़ प्रायद्वीप में सुकभादर नदी के समीप स्थित है। इस स्थल की खुदाई वर्ष 1953-1954 में ए. रंगनाथ राव द्वारा की गई थी। यहाँ पर पूर्व हड़प्पा कालीन संस्कृति के अवशेष मिले हैं। रंगपुर से मिले कच्ची ईटों के दुर्ग, नालियां, मृदभांड, बांट, पत्थर के फलक आदि महत्त्वपूर्ण हैं। यहाँ धान की भूसी के ढेर मिले हैं। यह ऐतिहासिक स्थान गोहिलवाड़ प्रांत में सुकभादर नदी के पश्चिम समुद्र में गिरने के स्थान से कुछ ऊपर की ओर स्थित है। इस स्थान से 1935 तथा 1947 में उत्खनन द्वारा सिंधु घाटी सभ्यता के अवशेष प्रकाश में लाए गये थे।

8.प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की ‘शिशु’ योजना के तहत अनुमान्य ऋण की अधिकतम राशि कितनी है?
(A) ₹1,00,000
(B) ₹50,000
(C) ₹2,00,000
(D) ₹5,00,000

उत्तर : (B) ₹50,000
प्रधानमंत्री मुद्रा योजना की शिशु योजना के तहत स्वीकृति योग्य ऋण की अधिकतम राशि 50,000 रूपये है। इस योजना की 3 श्रेणियां हैं, शिशु, किशोर और तरुण। इस योजना का उद्देश्य गैर-कृषि और गैर-निगमित लघु उद्यमों को 10 लाख रूपये तक ऋण प्रदान करना है। MUDRA योजना के तहत उन्हें ऋण की पेशकश की जाती है। MUDRA का अर्थ है माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी।

9.प्रसिद्ध संगीतकार पंडित बुद्धादित्य मुखर्जी किस संगीत वाद्ययंत्र से जुड़े हैं?
(A) सरस्वती वीणा
(B) संतूर
(C) शहनाई
(D) सितार

उत्तर : (D) सितार
पंडित बुधादित्यजी का जन्म 1955 में छत्तीसगढ़ के दुर्ग में हुआ था। उन्हें अपनी पीढ़ी का प्रमुख सितारवादक माना जाता है, बुधादित्यजी ने अपने पिता पंडित बिमलेंदु मुखर्जी से सितार का पूरा प्रशिक्षण प्राप्त किया। उन्होंने 1979 से यूके, यूएसए, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूएई, आर्मेनिया और लगभग सभी यूरोपीय देशों सहित 26 देशों में प्रदर्शन किया है। 30 जून, 1990 को, बुधादित्य मुखर्जी ने हाउस ऑफ कॉमन्स, लंदन में प्रदर्शन करने वाले पहले संगीतकार बनकर इतिहास रच दिया।

10.प्रसिद्ध शास्त्रीय नर्तकी रुक्मिणी देवी अरुडेल किस नृत्य शैली से जुड़ी थीं?
(A) भरतनाट्यम
(B) दहिकला
(C) ओडिसी
(D) कथकली

उत्तर : (A) भरतनाट्यम
रुक्मिणी देवी अरुंडेल (29 फ़रवरी 1924 – 24 फरवरी 1986) भारतीय शास्त्रीय नृत्य भरतनाट्यम की एक भारतीय ब्रह्मविद्या, नर्तक और नृत्य – निर्देशक थी, और पशु अधिकार और कल्याण के लिए कार्य करने वाली एक कार्यकर्ता भी थी। उन्हें मंदिर की नर्तकियों देवदासियों के बीच प्रचलित भरतनाट्यम नृत्य के मूल ‘सधीर’ शैली भारतीय शास्त्रीय नृत्य कला की सबसे महत्वपूर्ण पुनर्योजी माना जाता है। उन्होंने पारंपरिक भारतीय कला और शिल्प के पुन: स्थापना के लिए भी काम किया था।

Latest News

To Top