रोजगार

BIHAR सरकार एक साथ देगी सवा लाख शिक्षकों को नियुक्ति पत्र, जानिए कब होगी ज्वाइनिंग

Bihar-Government-teacher
Share Post

PATNA : बिहार (Bihar) में सवा लाख शिक्षकों की बहाली को लेकर नीतीश सरकार ने बड़ा एलान किया है. सरकार ने कहा है कि राज्य के सभी सवा लाख चयनित शिक्षकों को एक साथ नियुक्ति पत्र दिया जायेगा. ताकि उनकी वरीयता किसी स्तर पर प्रभावित न हो और न ही वरीयता में कोई अंतर नहीं आये.

गुरुवार को विधानसभा में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने यह घोषणा की. वित्तीय वर्ष 2021-22 के द्वितीय अनुपूरक व्यय-विवरणी में सम्मिलित अनुदान की मांग के तहत शिक्षा विभाग पर हुए वाद-विवाद के बाद सरकार की ओर से उत्तर देते हुए शिक्षा मंत्री ने कहा कि कुछ अभ्यर्थी अभी नियुक्ति पत्र को लेकर धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं.

शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि राज्य में लगभग सवा लाख शिक्षकों की नियुक्ति की प्रक्रिया चल रहा है. इनमें से 40 हजार शिक्षकों के चयन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है. सबको नियुक्ति के बाद एकसाथ नियुक्ति पत्र सौंपी जाएगी. इससे किसी शिक्षक की वरीयता प्रभावित नहीं होगी। किसी को पहले और किसी को बाद में नियुक्ति पत्र देने से वरीयता प्रभावित होगी और कोई भी फिर कोर्ट जा सकता है. उन्होंने कहा कि आचार संहिता खत्म होने के बाद 8300 फिजिकल टीचरों की नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू की जाएगी.

गौरतलब हो कि बिहार में सवा लाख शिक्षकों की बहाली की जानी है. अब तक 40 हजार शिक्षक बहाल हो चुके हैं. पंचायत चुनाव के कारण अभी यह प्रक्रिया बाधित है. स्थिति यह है कि कुछ पंचायतों में शिक्षकों का नियोजन हो चुका है तो कहीं जांच की प्रक्रिया चल रही है. कुछ में आवेदन की ही प्रक्रिया चल रही है. ऐसे में अगर किसी पंचायत के शिक्षक को नियुक्ति पत्र दे दिया जाए तो फिर वरीयता का मामला आएगा. इसलिए अभ्यर्थी किसी के बहकावे या उकसावे में नहीं आएं.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि बिहार में संस्कृत और उर्दू की पढ़ाई ऐसी होगी जैसी पूरे देश में कहीं नहीं होगी. बिहार देश में उर्दू-संस्कृत शिक्षा का मॉडल होगा. राज्य सरकार से कई स्तरों पर काम भी हुआ है. उन्होंने उर्दू को लेकर पूर्ववर्ती राजद सरकार को घेरा और विपक्ष को आइना भी दिखाया. उन्होंने कहा कि इस भाषा के लिए जितना काम नीतीश सरकार ने किया है, वैसा बिहार के इतिहास में किसी सरकार ने नहीं किया. बिहार में देश का पहला अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी खोला गया. हमने जो काम किया है लोगों का दिल, जमीन और ईमान ही उसकी गवाही देगा.

Latest News

To Top